हल्द्वानी - पाल कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट ने

भारतीय वद्य यंत्रो से कराया विद्यार्थियों को जागरूक

 | 

पाल कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट ने स्पिक मैके कुमाऊं क्षेत्र के साथ मिलकर 13 अक्टूबर 2023 को भारतीय पारम्परिक संगीत कार्यक्रम का आयोजन किया गया। 

इस कार्यक्रम में विश्व प्रसिद्ध संगीतकार तबला बादक पंडित श्री रामकुमार मिश्र (बनारस घराना) एवं विश्व प्रसिद्ध बॉसुरी वादक डा0 प्रवीण गोडखिडी ने अपने संगीत से सबका मन मोह लिया।  तबले और बॉसुरी के अनोखे संगम से पूरा पाल कालेज झूम उठा।  इस कार्यक्रम का उद्देश्य छात्रों में भारतीय पारम्परिक संगीत वाद्य यंत्र के प्रति जागरूक करना था ।  इस अवसर पर पाल कालेज के चेयरमैन श्री नारायण पाल जी ने कहा कि आज का छात्र पाश्चत्य संगीत की ओर बढ रहा है और भारतीय संगीत को छोड रहा है।  इस उदद्ेय से यह कार्यक्रम आयोजित किया गया।

इस कार्यक्रम का शुभ्भारम्भ कालेज के चेयरमैन श्री नारायणपाल, सी0ई0ओ0 श्री निर्भय पाल, प्रो0 के0के0पाण्डे द्वारा दीप प्रज्ज्वलित करके किया। 

इस कार्यक्रम में पाल कालेज के संकाय सदस्यों, छात्रों और स्टाफ सदस्यों के साथ-साथ विभिन्न स्कूलों से आमंत्रित छात्रों और शिक्षकों ने भाग लिया। डॉ. प्रवीण गोडखिंडी की बांसुरी की सुंदर धुनों से श्रोता मंत्रमुग्ध हो गये। पंडित की लयबद्ध ताल के साथ पूरी तरह से मेल खाती है। तबले पर राम कुमार मिश्र थे। इस मनमोहक प्रस्तुति ने पूरे दिन सभी को बांधे रखा।
विद्यार्थियों ने उस्तादों के साथ बातचीत की और उन्हें भारतीय शास्त्रीय संगीत के बारे में और अधिक जानने का मौका मिला। पीसीटीएम में यह एक सुंदर, मनमोहक और मधुर दिन था।