Chardham Yatra 2024 - क्या आप भी इस साल बना रहे हैं केदारनाथ जाने का प्लान, तो जान लीजिए कैसे करना होगा पंजीकरण 
 

 | 

Chardham Yatra 2024 - (निधि अधिकारी) आगामी दिनों में शुरू होने जा रही चार धाम यात्राओं के लिए तीर्थ यात्रियों को पंजीकरण करवाना जरूरी होगा। महाशिवरात्रि के अवसर पर 8 मार्च को केदारनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि घोषित हो गई, 10 मई को अक्षय तृतीया है इसी दिन केदारनाथ धाम के कपाट खुलेंगे बद्रीनाथ धाम के कपाट 12 मई को सुबह 6:00 बजे खुलने हैं। 


केदारनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि घोषित होने के बाद पंजीकरण शुरू कर दिए जाएंगे। इसके लिए पर्यटन विभाग द्वारा तैयारियां शुरू कर दी गई है। मार्च के अंत तक पंजीकरण की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इसके लिए ऑनलाइन पोर्टल को अपडेट कर दिया गया है। चारधाम यात्रा की तैयारी के लिए पर्यटन विभाग द्वारा गढ़वाल मंडल आयुक्त को 5 करोड़ रुपए की राशि जारी की गई है इस राशि को केदारनाथ, बद्रीनाथ, यमुनोत्री और गंगोत्री धाम में तीर्थ यात्रियों को बेहतर व्यवस्थाएं देने पर खर्च किया जाना है। ऐसे में पर्यटन विकास परिषद मार्च माह के आखिरी सप्ताह से चारधाम यात्रा के लिए ऑनलाइन पंजीकरण शुरू कर देगा।


कैसे करें केदारनाथ यात्रा का पंजीकरण - How to do Kedarnath Yatra Registeration? 
यदि आप भी इस साल बना रहे है चारों धाम जाने का प्लान तो आइए जान लीजिए कैसे करे पंजीकरण। "BKTC" यानि "बद्रीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति के नीचे दिए गए लिंक BKTC वेबसाइट -https://badrinath-kedarnath.gov.in/  पर जाकर मोबाईल नंबर के उससे लॉगिन करके आगे का प्रोसेस पूरा करके पंजीकरण करें ताकि आप भी इस साल चारों धाम के दर्शन कर सके। चारधाम यात्रा पर आने वाले तीर्थ यात्रियों के लिए पंजीकरण व्यवस्था में इस बार कुछ बदलाव किया गया है। तीर्थ यात्रियों को चारों धामों में भीड़भाड़ और व्यवस्थाओं के विषय में ऑनलाइन पोर्टल पर जानकारी मिल सकेगी जिससे तीर्थ यात्रियों की यात्रा सुगम हो सके।


2023 में केदारनाथ यात्रा ने बनाया था रिकॉर्ड - (What was the Number of Devotee in kedarnath in 2023)
साल 2023 में केदारनाथ जाने वाले भक्तों के पुराने सारे रिकॉर्ड धरासाई कर दिए थे आपको बता दें की साल 202में करीब 19 लाख 61 हज़ार से ज़्यादा लोगों ने केदारनाथ धाम की यात्रा पूरी की थी। चारों धामों में 50 लाख से अधिक लोग पहुंचे थे। साल 2023 में केदारनाथ के कपाट 25 अप्रैल को खुले थे और 15 नवंबर 2023 को यात्रा समाप्त हुई थी। पिछले साल चार धाम मंदिरों के दर्शन के लिए तीर्थयात्रियों की संख्या बद्रीनाथ में प्रतिदिन अधिकतम 15,000 तीर्थयात्रियों, केदारनाथ में 12,000, गंगोत्री में 7,000 और यमुनोत्री में 4,000 तीर्थयात्रियों की सख्या रही थी।