inspace haldwani
Home उत्तराखंड उत्तराखंड- अक्टूबर तक खुली रहेगी फूलों की घाटी, इन प्रतिबंधों के हटने...

उत्तराखंड- अक्टूबर तक खुली रहेगी फूलों की घाटी, इन प्रतिबंधों के हटने से जगी पर्यटकों में आने की उम्मीद

रुद्रपुर: श्यामा प्रसाद मुखर्जी चौक पर पलटी जीप, यातायात अवरूद्ध, चालक समेत दो घायल

रुद्रपुर । महानगर के काशीपुर रोड स्थित श्यामा प्रसाद मुखर्जी चौक पर एक कार गोल चक्कर से टकरा कर पलट गई । जिस कारण...

रुद्रपुर: तराई में बड़े नेताओं पर डोरे डाल रही आप, मगर नतीजा क्या रहा, जानिए जरूर

रुद्रपुर । आम आदमी पार्टी तराई में बड़े नेताओं पर डोरे डाल रही है, लेकिन अभी उनका मंसूबा पूरा नहीं हो पाया है, अलबत्ता...

प्रधान व बीडीसी सदस्य समेत अनेकों समर्थक भाजपा में शामिल

संवाददाता अनुराग शुक्ला ग्राम सभा बमनपुरी के प्रधान अमरजीत सिंह व बीडीसी सदस्य महेश टम्टा  अपने दर्जनों समर्थकों के साथ भाजपा में शामिल हुए तथा...

हल्द्वानी- पाल कॉलेज ने कोरोना के दौर में भी तोड़ा तीन वर्षों का प्लेसमेंट रिकॉर्ड, छात्रों को इन कोर्सों की दे रहा सेवा

पाल कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट, हल्द्वानी ने कोरोना महामारी के दौर में भी विद्यार्थियों को राज्य/ राष्ट्रीय स्तर की कंपनियों में रोजगार दिलवाकर...

शुद्ध व प्रमाणित नए-नए डिजाइनों के स्वर्ण आभूषणों के लिए प्रमुख प्रतिष्ठान बंसल ज्वेलर्स

रुद्रपुर । कोई खास मौका हो अथवा उत्सव। स्वर्ण आभूषण पहनना भारतीय परंपरा का न सिर्फ महत्वपूर्ण हिस्सा होता है, बल्कि फैशन में भी...

राज्य सरकार की ओर से अनलाॅक-4 के नियमों में छूट दिये जाने के कारण उत्तराखंड के चमोली जिले में स्थित फूलों की घाटी के सौन्दर्य को निहारने के लिये यहां पर सितम्बर से करीब 530 पर्यटक पहुंच चुके हैं। सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर ने बताया कि विदेशी प्रर्यटकों के फूलों की घाटी स्विट्जरलैंड से कम नही है। लाॅकडाउन के चलते एक अगस्त से फूलों की घाटी को खोला गया था।

जिस कारण यहा अभी तक 530 पर्यटक आ चुके है। उन्होने बताया कि पर्यटकों के लिए कोविड जांच की निगेटिव रिपोर्ट, होटल व होम स्टे में दो दिन ठहरने की बुकिंग का प्रतिबंध अब हटा दिया गया है। जिस कारण अब पर्यटक आवास सुविधाओं के लिए फूलों की घाटी के बेस कैंप घाघरिया स्थित कई होटल, गेस्टहाउस, होम स्टे और कैंप की बुकिंग करा सकते हैं। जानकारी के अनुसार अब अक्टूबर तक फूलों की घाटी खुली रहेगी।

घाटी में खिलते है, 300 प्रजाति के फूल

आपकों बता दें कि फूलों की घाटी में अनेक प्रकार की प्रजातियों के फूलों खिलते है, यहां फूलों की 300 से भी अधिक प्रजाति हैं। सबसे पहले घाटी में एनीमोन और प्रिमुला प्रजाति के पुष्प खिलते हैं। उसके बाद जर्मेनियम, मार्श, गेंदा, पोटेंटिला, लिलियम, हिमालयी नीला पोस्त, बछनाग, डेलफिनियम, रानुनकुलस, कोरिडालिस, इंडुला, सौसुरिया, कंपानुला, पेडिक्युलरिस, मोरिना, इंपेटिनस, बिस्टोरटा, लिगुलारिया, लोबिलिया, थर्मोपसिस, ट्रौलियस, एक्युलेगिया  प्रजाति के फूल खिलते है। यहां पर अब पर्वत श्रृंखलाओं की तलहटी में ब्रह्मकमल भी खिले रहे हैं।

 

 

 

Related News

रुद्रपुर: श्यामा प्रसाद मुखर्जी चौक पर पलटी जीप, यातायात अवरूद्ध, चालक समेत दो घायल

रुद्रपुर । महानगर के काशीपुर रोड स्थित श्यामा प्रसाद मुखर्जी चौक पर एक कार गोल चक्कर से टकरा कर पलट गई । जिस कारण...

रुद्रपुर: तराई में बड़े नेताओं पर डोरे डाल रही आप, मगर नतीजा क्या रहा, जानिए जरूर

रुद्रपुर । आम आदमी पार्टी तराई में बड़े नेताओं पर डोरे डाल रही है, लेकिन अभी उनका मंसूबा पूरा नहीं हो पाया है, अलबत्ता...

प्रधान व बीडीसी सदस्य समेत अनेकों समर्थक भाजपा में शामिल

संवाददाता अनुराग शुक्ला ग्राम सभा बमनपुरी के प्रधान अमरजीत सिंह व बीडीसी सदस्य महेश टम्टा  अपने दर्जनों समर्थकों के साथ भाजपा में शामिल हुए तथा...

हल्द्वानी- पाल कॉलेज ने कोरोना के दौर में भी तोड़ा तीन वर्षों का प्लेसमेंट रिकॉर्ड, छात्रों को इन कोर्सों की दे रहा सेवा

पाल कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट, हल्द्वानी ने कोरोना महामारी के दौर में भी विद्यार्थियों को राज्य/ राष्ट्रीय स्तर की कंपनियों में रोजगार दिलवाकर...

शुद्ध व प्रमाणित नए-नए डिजाइनों के स्वर्ण आभूषणों के लिए प्रमुख प्रतिष्ठान बंसल ज्वेलर्स

रुद्रपुर । कोई खास मौका हो अथवा उत्सव। स्वर्ण आभूषण पहनना भारतीय परंपरा का न सिर्फ महत्वपूर्ण हिस्सा होता है, बल्कि फैशन में भी...

रुद्रपुर: फैक्ट्री के गंदे पानी से बर्बाद हो रही फसल, शिकायत करने पर हुआ यह परिणाम

रुद्रपुर । जाफरपुर के एक खेत स्वामी ने दिनेशपुर पुलिस को तहरीर देकर एक फैक्ट्री प्रबंधन पर प्रदूषित पानी खेत में छोड़ने का आरोप...