inspace haldwani
Home उत्तराखंड उत्तराखंड- इस बार आठ दिनों में बीतेंगे नवरात्र, पढ़िये ज्योतिषाचार्य की ये...

उत्तराखंड- इस बार आठ दिनों में बीतेंगे नवरात्र, पढ़िये ज्योतिषाचार्य की ये महत्पूर्ण जानकारी

उत्तराखंड में विकल्प बन कर उभरी है आप, जानिए आप नेताओं ने उठाए कौन से मुद्दे

किच्छा । आम आदमी के प्रदेश अध्यक्ष एसएस कलेर एवं प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया ने कहा कि आम आदमी पार्टी उत्तराखंड में विकल्प बन...

देहरादून- भ्रष्टाचार पर करारे वार का दंश झेल रहे हैं त्रिवेंद्र,अब सीबीआई करेगी दूध का ढूध पानी का पानी

देहरादून। मामला झारखंड का और दांव पर उत्तराखंड की अस्मिता। जी हां, अजब है पर सच है। झारखंड के एक आधारहीन मसले को उछालकर...

उत्तराखंड- ट्रेन में अकेले सफर करने वाली महिलाओं के लिए रेलवे का फैसला, शुरू किया खास मेरी सहेली मिशन

महिलाओं की सुरक्षा के लिए रेलवे ने बड़ा फैसला लिया है। जिसके तहत रेलवे स्टेशन और ट्रेन में अकेले सफर करने वाली महिला यात्री...

देहरादून- मुख्यमंत्री ने किया भाजपा प्रशिक्षण शिविर का शुभारंभ, राज्य के लिये कहीं ये बात

उत्तराखंड मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने देहरादून में कार्यकर्ता प्रशिक्षण शिविर का आज शुभारम्भ किया। भारतीय जनता पार्टी केंद्रीय प्रशिक्षण विभाग की ओर से...

उत्तराखंड- अब रेल यात्रियों को मिल सकेंगी और भी बेहतर सुविधायें, यहां बन सकता है प्रदेश का रेल मंडल मुख्यालय

उत्तराखंड में रेल मंडल मुख्यालय बनाये जाने को लेकर चर्चायें जोरों पर है। इस बात की जानकारी नॉर्दर्न रेलवे मेंस यूनियन के राष्ट्रीय महासचिव...

साल में एक बार आने वाले नवरात्र इस बार प्रदेश भर में 17 अक्टूबर से प्रारम्भ होने जा रहे है। आपको बता दें कि हर बार नवरात्र नौ दिनों के होते है लेकिन इस बार ऐसा नही है, इस बार नवरात्र आठ ही दिनों के होगें और विजय दशमी 25 अक्टूबर को मनाई जाएगी। ऐसा इसलिये क्योंकि इस वर्ष तिथियों में काफी उतार चड़ाव आ रहा है। ज्योतिषाचार्य पंडित प्रियव्रत शर्मा ने बताया कि इस वर्ष दो तिथियां एक दिन पड़ गईं।

जिस कारण अष्टमी और नवमी की पूजा एक ही दिन सम्पन्न होगी, और नवरात्र भी आठ ही दिन के होंगे। उन्होने बताया कि इस बार 24 अक्तूबर को सवेरे छह बजकर 58 मिनट तक अष्टमी है, और उसके बाद नवमी लग जाएगी।  ज्योतिषाचार्य ने बताया कि नवमी के दिन सवेरे सात बजकर 41 मिनट के बाद दशमी तिथि आ रही है। इस कारण दशहरा पर्व और अपराजिता पूजन एक ही दिन आयोजित होंगे। ज्योतिषीय दृष्टि से नवरात्र का एक दिन घटना शुभ नहीं माना जाता है।

ज्योतिषाचार्य ने बताया कि इन दिनों अधिकमास चल रहा है। जिस कारण सभी मांगलिक कार्य अटके हुए है। क्योंकि अधिकमास में विवाह, गृह प्रवेश, चूड़ा-कर्म, नाम करण व अन्य मांगलिक कार्य करना शुभ नहीं माने जाते हैं। उन्होने कहा कि 18 सितंबर से 16 अक्तूबर तक अधिकमास रहेगा। अधिकमास के कारण इस बार नवरात्र एक महीने देरी से आ रहा है। जबकि हर बार पितृ पक्ष खत्म होने के बाद नवरात्र शुरू होते हैं। इसलिये अब लोगों को नवरात्र का इंतजार है, क्योकि नवरात्र के प्रारम्भ होने से ही शुभ लग्न शुरू होते है।

 

Related News

उत्तराखंड में विकल्प बन कर उभरी है आप, जानिए आप नेताओं ने उठाए कौन से मुद्दे

किच्छा । आम आदमी के प्रदेश अध्यक्ष एसएस कलेर एवं प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया ने कहा कि आम आदमी पार्टी उत्तराखंड में विकल्प बन...

देहरादून- भ्रष्टाचार पर करारे वार का दंश झेल रहे हैं त्रिवेंद्र,अब सीबीआई करेगी दूध का ढूध पानी का पानी

देहरादून। मामला झारखंड का और दांव पर उत्तराखंड की अस्मिता। जी हां, अजब है पर सच है। झारखंड के एक आधारहीन मसले को उछालकर...

उत्तराखंड- ट्रेन में अकेले सफर करने वाली महिलाओं के लिए रेलवे का फैसला, शुरू किया खास मेरी सहेली मिशन

महिलाओं की सुरक्षा के लिए रेलवे ने बड़ा फैसला लिया है। जिसके तहत रेलवे स्टेशन और ट्रेन में अकेले सफर करने वाली महिला यात्री...

देहरादून- मुख्यमंत्री ने किया भाजपा प्रशिक्षण शिविर का शुभारंभ, राज्य के लिये कहीं ये बात

उत्तराखंड मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने देहरादून में कार्यकर्ता प्रशिक्षण शिविर का आज शुभारम्भ किया। भारतीय जनता पार्टी केंद्रीय प्रशिक्षण विभाग की ओर से...

उत्तराखंड- अब रेल यात्रियों को मिल सकेंगी और भी बेहतर सुविधायें, यहां बन सकता है प्रदेश का रेल मंडल मुख्यालय

उत्तराखंड में रेल मंडल मुख्यालय बनाये जाने को लेकर चर्चायें जोरों पर है। इस बात की जानकारी नॉर्दर्न रेलवे मेंस यूनियन के राष्ट्रीय महासचिव...

उत्तराखंड- छात्रों का इंतजार होगा खत्म, नवम्बर में इस दिन से खुलेंगे डिग्री काॅलेज

लाॅकडाउन के कारण पिछले कई महीनों से बंद डिग्री काॅलेजों को खोलने की तैयारी में अब सरकार जुट गई है। आपकों बता दें कि...