inspace haldwani
inspace haldwani
Home उत्तराखंड उत्तराखंड- शीतकाल के लिए बंद हुए प्रसिद्ध गंगोत्री धाम के कपाट, तीर्थ...

उत्तराखंड- शीतकाल के लिए बंद हुए प्रसिद्ध गंगोत्री धाम के कपाट, तीर्थ पुरोहितों ने की विशेष पूजा

देहरादून – प्रदेश में परवान चढ़ने लगी पिरूल से बिजली बनने की योजना, अब 25 नए प्रोजेक्ट खोलने की तैयारी

देहरादून- प्रदेश में पिरुल से बिजली बनाने की योजना अब परवान चढ़ने लगी है। उत्तराखंड रिनिवेबल एनर्जी डेवलपमेंट एजेंसी(उरेडा) की इस योजना के तहत...

रुद्रपुर: आखिर राज्यमंत्री को क्यों डाक्टर दंपति का विरोध झेलना पड़ा

रुद्रपुर। नगरीय पर्यावरण संरक्षण परिषद के उपाध्यक्ष प्रकाश हर्बोला व उनकी टीम को एक निर्माणाधीन अस्पताल के निरीक्षण के दौरान डाॅक्टर दंपति के विरोध...

देहरादून- युवक ने खुद को मारी गोली, क्षेत्र में मची सनसनी

देहरादून - तिब्बती मार्केट की एक दुकान में व्यक्ति की गोली लगने से मौत हो गई। पुलिस इसे हत्या और सुसाइड दोनों तरीके से...

रुद्रपुर: करोड़ों का खेल, मंत्री के जांच के आदेश से होगा अफसरों व ठेकेदार की सांठगांठ का खुलासा

फणींद्र नाथ गुप्ता रुद्रपुर। जिला पंचायत के लदान ढुलान ठेकेदार के जिला पंचायत को 2.22 करोड़ रुपए की आर्थिक क्षति पहुंचाने के प्रकरण में पंचायतीराज...

देहरादून- सरकार के इस फैसले से उत्तराखंड पुलिस के खिल जाएंगे चेहरे, होगा ये फायदा

शासन ने उत्तराखंड पुलिस के कर्मचारियों को छठे वेतनमान की सिफारिशों के तहत उच्चीकृत वेतन ग्रेड पर एरियर की सौगात दे दी है। हाईकोर्ट...

विश्व प्रसिद्ध गंगोत्री धाम के कपाट विधि-विधान के साथ शीतकाल के लिए बंद कर दिए गए हैं। कपाट बंदी से पहले गंगोत्री मंदिर और गंगा घाट पर पूजा-अर्चना की गई। इसके बाद मां गंगा की उत्सव डोली शीतकालीन पड़ाव मुखीमठ (मुखवा) के लिए रवाना हुई। इस अवसर पर मां गंगा के दर्शन करने के लिए जिले की प्रमुख देव डोलियां भी गंगोत्री धाम पहुंची। हर्षिल घाटी के ग्रामीण भी कपाट बंद होने की अवसर पर गंगोत्री पहुंचे।

विशेष पूजा और गंगा लहरी का किया पाठ

बता दें कि चारधाम यात्रा अपने आखिरी पड़ाव की ओर है। आज रविवार को गंगोत्री धाम के कपाट 12 बजकर 15 मिनट पर विधि-विधान के साथ बंद किए गए। अन्नकूट पर्व के शुभ मुहूर्त पर गंगोत्री धाम में सुबह साढ़े बजे उदय बेला पर मां गंगा के मुकुट को उतारा गया। इस बीच श्रद्धालुओं ने मां गंगा की भोग मूर्ति के दर्शन किए, जिसके बाद अमृत बेला, अभिजीत मुहूर्त पर कपाट बंद किए गए।

इस दौरान तीर्थ पुरोहितों ने विशेष पूजा और गंगा लहरी का पाठ किया गया। डोली में सवार होकर गंगा की भोगमूर्ति जैसे ही मंदिर परिसर से बाहर निकली तो पूरा माहौल भक्तिमय हो उठा। आपको बता दें कि अब मां गंगा की उत्सव डोली सोमवार को मुखवा पहुंचेगी। गंगोत्री के कपाट बंद होने के बाद अब देश-विदेश के श्रद्धालु मां गंगा के दर्शन उनके शीतकालीन प्रवास मुखवा में कर सकेंगे।

Related News

देहरादून – प्रदेश में परवान चढ़ने लगी पिरूल से बिजली बनने की योजना, अब 25 नए प्रोजेक्ट खोलने की तैयारी

देहरादून- प्रदेश में पिरुल से बिजली बनाने की योजना अब परवान चढ़ने लगी है। उत्तराखंड रिनिवेबल एनर्जी डेवलपमेंट एजेंसी(उरेडा) की इस योजना के तहत...

रुद्रपुर: आखिर राज्यमंत्री को क्यों डाक्टर दंपति का विरोध झेलना पड़ा

रुद्रपुर। नगरीय पर्यावरण संरक्षण परिषद के उपाध्यक्ष प्रकाश हर्बोला व उनकी टीम को एक निर्माणाधीन अस्पताल के निरीक्षण के दौरान डाॅक्टर दंपति के विरोध...

देहरादून- युवक ने खुद को मारी गोली, क्षेत्र में मची सनसनी

देहरादून - तिब्बती मार्केट की एक दुकान में व्यक्ति की गोली लगने से मौत हो गई। पुलिस इसे हत्या और सुसाइड दोनों तरीके से...

रुद्रपुर: करोड़ों का खेल, मंत्री के जांच के आदेश से होगा अफसरों व ठेकेदार की सांठगांठ का खुलासा

फणींद्र नाथ गुप्ता रुद्रपुर। जिला पंचायत के लदान ढुलान ठेकेदार के जिला पंचायत को 2.22 करोड़ रुपए की आर्थिक क्षति पहुंचाने के प्रकरण में पंचायतीराज...

देहरादून- सरकार के इस फैसले से उत्तराखंड पुलिस के खिल जाएंगे चेहरे, होगा ये फायदा

शासन ने उत्तराखंड पुलिस के कर्मचारियों को छठे वेतनमान की सिफारिशों के तहत उच्चीकृत वेतन ग्रेड पर एरियर की सौगात दे दी है। हाईकोर्ट...

पिथौरागढ़- भारत से पेंशन लेकर लौट रहे 5 नेपाली पेंशनरों को मिली दर्दनाक मौत, ऐसे हुआ पूरा हादसा

भारत से पेंशन लेकर जा रहे नेपाली पेंशनरों की एक जीप नेपाल में झूलाघाट से करीब सात किमी दूर सड़क से पलटकर डेढ़ सौ...