inspace haldwani
Home उत्तराखंड उत्तराखंड- अब दो साल नहीं 35 दिनों में मिल जाएगा बार लाइसेंस,...

उत्तराखंड- अब दो साल नहीं 35 दिनों में मिल जाएगा बार लाइसेंस, बस करना होगा ये काम

उत्तराखंड में बार का लाइसेंस बनना अब बेहद आसान हो गया है। दरअसल शासन ने आबकारी विभाग में हीलाहवाली का खेल खत्म कर दिया है। नई व्यवस्था के तहत आवेदक को अब 35 दिन में लाइसेंस जारी हो जाएगा। आवेदनकर्ता को रेस्टोरेंट के बार लाइसेंस के लिए विभागीय अधिकारियों के चक्कर नहीं काटने होंगे और न ही उन्हें लाइसेंस के लिए दो-दो साल इंतजार करना होगा। लाइसेंस जारी करने की पूरी प्रक्रिया अब ऑनलाइन होगी।

शासन ने विवाह स्थलों या बैंक्वेट हाल में छोटी पार्टियों के लिए जारी होने वाले एक दिवसीय बार लाइसेंस की प्रक्रिया को भी आसान बना दिया है। इस लाइसेंस के आवेदन के सभी शुल्क और शर्तें ऑनलाइन पूरी करने के बाद आवेदन के दो घंटे के भीतर बार लाइसेंस जारी हो जाएगा। इस संबंध में सचिव आबकारी सचिव कुर्वे के निर्देश पर शासनादेश जारी कर दिए गए हैं। वही बैंक्वेंट हाल या वेडिंग प्वांइट का वार्षिक रजिस्ट्रेशन कराने के बाद आवेदक एक दिन या 30 दिन का भी लाइसेंस ले सकता है। निर्धारित शुल्क देकर वह इसे आगे भी बढ़ा सकता है।

ऑनलाइन आवेदन ही मान्य

नई प्रक्रिया में बार लाइसेंस के लिए केवल ऑनलाइन आवेदन ही मान्य होंगे। होटल या रेस्टोरेंट के लिए आवेदक को लाइसेंस शुल्क के रूप में जिलाधिकारी के नाम 50 हजार रुपये का ड्रॉफ्ट बनाना होगा। सभी जरूरी अभिलेख ऑनलाइन अपलोड करने होंगे। साझीदारों का एक शपथपत्र भी देना होगा कि वे राजकीय राजस्व के बकायेदार नहीं हैं। वह दंडित अथवा संज्ञेय या गैर जमानती अपराध या एनडीपीएस एक्ट में दंडित नहीं हुए हैं।

जिला आबकारी अधिकारी, आबकारी निरीक्षण को आवेदन के दो दिन के भीतर स्थलीय निरीक्षण पर भेजेंगे। 20 दिन के भीतर स्थलीय निरीक्षण की रिपोर्ट तैयार होगी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक और जिला आबकारी अधिकारी तीन दिन के भीतर डीएम को सूचित करेंगे। हर महीने दूसरे मंगलवार या अवकाश होने पर आगामी कार्यदिवस पर बैठक होगी, जिसमें इन आवेदनों पर निर्णय लिया जाएगा। यह पूरी प्रक्रिया 35 दिन में पूरी करनी होगी।

Related News

देहरादून- जल संस्थान में रिक्त पदों पर जल्द होगी तैनाती, इनको मिले दायित्व

उत्तराखंड में जल संस्थान में रिक्त पदों पर शासन ने अभियंताओं की प्रभारी व्यवस्था के तहत तैनाती के आदेश जारी कर दिए हैं। इसके...

नानकमत्ता: किसान विरोधी सरकार को सबक सिखाएगी जनता: देवेंद्र यादव

राजीव कुमार सक्सेना नानकमत्ता। प्रदेश की भाजपा सरकार भ्रष्टाचार से लिप्त नाकाम सरकार है , जिसने किसानों तथा आमजन का सदैव उत्पीड़न किया है ।...

रुद्रपुर: केंद्रीय कारागार के चार बंदी रक्षकों हुआ मुकदमा, जानिए क्यों

रुद्रपुर। महानगर निवासी एक महिला की शिकायत पर पुलिस महानिदेशक स्तर से कराई गई जांच के बाद केंद्रीय कारागार सितारगंज में डयूटी में नियुक्त...

रुद्रपुर: केंद्रीय कारागार के चार बंदी रक्षकों हुआ मुकदमा, जानिए क्यों

रुद्रपुर। महानगर निवासी एक महिला की शिकायत पर पुलिस महानिदेशक स्तर से कराई गई जांच के बाद केंद्रीय कारागार सितारगंज में डयूटी में नियुक्त...

देहरादून- पेयजल टेरिफ पुनरीक्षण के लिए सीएम त्रिवेन्द्र ने किया समिति का गठित, जलापूर्ति के लिए बनाई ये योजना

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेश में पेयजल टेरिफ पुनरीक्षण के लिये नगर विकास मंत्री मदन कौशिक एंव उच्च शिक्षा राज्य मंत्री डा. धन...

रुद्रपुर: मंत्री अरविंद पांडेय कोर्ट में हुए पेश, जानिए किस मामले में जारी था वारंट

रुद्रपुर। प्रदेश के पंचायतीराज एवं शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय शनिवार को कोर्ट में उपस्थित हुए। कोर्ट ने उनके खिलाफ वारंट जारी कर रखा था। शनिवार...