उत्तराखंड- मनरेगा से जुड़े लोगों के लिए अच्छी खबर, अब इतनी संख्या में ऐसे मिलेगा रोजगार

Slider

उत्तराखंड में प्रदेश सरकार द्वारा मनरेगा के तहत 100 दिन की जगह कम से कम 200 दिन तक के लिए रोजगार की गारंटी का प्रस्ताव केंद्र को भेजा गया है। और साथ केन्द्र सरकार से अपील की है, कि मनरेगा में खेती किसानी को भी अनुमति दी जाए।  प्रेदेश में मनरेगा के तहत सौ दिन तक का काम उपलब्ध कराने की गारंटी दी जाती है,  वहीं इसको लेकर कई सामाजिक संघठनों की मांग है कि इसे बढ़ाकर 200 दिन किया जाए।

haldwani news

Slider

जानकारी के अनुसार अब प्रदेश में मनरेगा से जुड़ने वालों की संख्या करीबन पांच लाख से ऊपर पहुंच गई है, स्टेट कोर्डिनेटर मोहम्मद असलम ने बताया कि मनरेगा में सालाना करीब 10 लाख से अधिक लोग जुड़ते है, लेकिन इस बार देश में कोरोना की वजह से इस योजना में केवल 60 हजार श्रमिक जुड़ पाए हैं। बता दें कि इस समय प्रदेश में करीबन 32 दिनों का रोजगार दिया जा रहा है, जो कि राष्ट्रीय औसत कम है।

मनरेगा की वर्कफोर्स में करीब पचास प्रतिशत महिलाएं हैं। अब न्यूनतम सौ दिन का रोजगार होने पर विभिन्न योजनाओं का विस्तार भी सरकार को करना होगा ताकि कम कम छह माह तक लोगों को बराबर काम मिलता रहे। जानकारी के अनुसार अब मनरेगा में मत्स्य पालकों को भी जोड़ने का प्रयास सरकार द्वारा किया जा रहा है। इस समय स्वयं सहायता समूह या अन्य समूह वाले ही मनरेगा के तहत मछलियों को पाल सकते हैं। अब कोशिश की जा रही है कि व्यक्तिगत स्तर पर भी मत्स्य पालकों को इस योजना से जोड़ा जाए।

मनरेगा के तहत कब-कब कितने लोगों को दिया गया रोजगार (लाख में)

2015.16    7.51
2016.17    7.95
2017.18    7.35
2018.19    4.45
2019.20    5.10 (माह जुलाई तक)

 

उत्तराखंड की बड़ी खबरें