drishti haldwani

उत्तराखंड पंचायत चुनाव 2019- जानिए कब होंगे आपके यहां चुनाव, क्या है चुनाव लडऩे की शैक्षिक योग्यता

1083

पंचायत चुनाव 2019 – उत्तराखंड में पंचातय चुनाव का कार्यकाल 14-15 जुलाई को समाप्त हो चुका है। पंचायतों में निर्वाचित जनप्रतिनिधियों की जगह प्रशासक काम कर रहे हैं। करीब तीन माह बाद पंचायतों में एक बार फिर ग्राम प्रधान ही गांव के सर्वेसर्वा होंगे। राज्य निर्वाचन आयोग ने विधिवत चुनाव कार्यक्रम जारी कर दिया। हरिद्वार जिले को छोडक़र उत्तराखंड के 7485 ग्राम पंचायतों के लिए 12 जिलों में पंचायत चुनाव 6 अक्टूबर, 11 अक्टूबर और 16 अक्टूबर को 3 चरणों में होगी वोटिंग होगी।

iimt haldwani

panchyat5

राज्य निर्वाचन आयुक्त का कहना है कि जिला मुख्यालय से सटे ब्लाकों प्रथम चरण का मतदान निर्धारित किया गया है। हाईकोर्ट के निर्देशानुसार पंचायत चुनाव प्रक्रिया 30 नवंबर तक पूरी करनी है। इस बार प्रदेश भर में 43,11,423 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। जिनमें 21,05,093 महिला मतदाता व 22,06,330 पुरुष मतदाता शामिल होंगे।

6 अक्टूबर को पहले चरण का चुनाव

हल्द्वानी, रामनगर और भीमताल (नैनीताल), बागेश्वर, भटवाड़ी और डुंडा, ताकुला, हवालाबाग, लमगड़ा और धौलादेवी (अल्मोड़ा) रुद्रपुर और गदरपुर (ऊधमङ्क्षसह नगर) चंपावत, विणु, मूनाकोट और कनालीछीना (पिथौरागढ़), (उत्तरकाशी), जोशीमठ, दशोली और घाट (चमोली), चम्बा, जाखणीधार और भिलंगना (टिहरी), डोईवाला और रायपुर (देहरादून), पौड़ी, पाबौ, खिर्सू, कोट और कल्जीखल (पौड़ी) आर ऊखीमठ ब्लॉक (रुद्रप्रयाग)।

panchyatt5

11 अक्टूबर को दूसरे चरण का चुनाव

कोटाबाग, धारी और रामगढ़ (नैनीताल), गरुड़ (बागेश्वर), चौखुटिया, द्वाराहाट, ताड़ीखेत और भैंसियाछाना (अल्मोड़ा), बाजपुर, काशीपुर और जसपुर (ऊधमसिंह नगर), लोहाघाट और बाराकोट (चंपावत), बेरीनाग और गंगोलीहाट (पिथौरागढ़), चिन्यालीसौंड़ और नौगांव (उत्तरकाशी), पोखरी ,कर्णप्रयाग और गैरसैंण (चमोली), धौलधार, जौनपुर और प्रतापनगर (टिहरी), सहसपुर और कालसी (देहरादून), यमकेश्वर, द्वारीखाल, जयहरीखाल, एकेश्वर और दुगड्डा (पौड़ी गढ़वाल) और जखोली (रुद्रप्रयाग)।

16 अक्टूबर को तीसरे चरण का चुनाव

बेतालघाट और ओखकांडा (नैनीताल), खटीमा, सितारगंज (ऊधमसिंह नगर), सल्ट, स्याल्दे और भिकियासैंण (अल्मोड़ा), पाटी (चम्पावत), धारचूला, मुनस्यारी और डीडाहाट (पिथौरागढ़), कपकोट (बागेश्वर),मोरी और पुरोला (उत्तरकाशी), देवाल, थराली और नारायणबगड़ (चमोली), कीर्तिनगर, देवप्रयाग और नरेंद्र नगर (नई टिहरी), विकासनगर और चकराता (देहरादून), रिखणीखाल, पोखड़ा, थलीसैंण, नैनीडांडा और बीरोंखाल (पौड़ी), अगस्त्यमुनि (रुद्रप्रयाग)।

panchat55

दो से अधिक बच्चे वाले नहीं लड़ सकेंगे चुनाव

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में इस बार पहली बार दो खास नियम शामिल होंगे। इस चुनाव में दो से अधिक बच्चे वाले दावेदारों को चुनाव से बाहर रहना होगा। सूबे की सरकार ने बीते मानसून सत्र के दौरान पंचायती राज एक्ट में संशोधन करते हुए, चुनाव लडऩे के लिए परिवार और शिक्षा की शर्त तय की थी, जिसके अनुसार कोई भी व्यक्ति, जिसकी दो से अधिक संतान हैं, वो चुनाव नहीं लड़ पाएंगे।

शैक्षिक योग्यता भी जरूरी

इसके अलावा विभिन्न पदों के लिए पहली बार उम्मीदवार शैक्षिक योग्यता निर्धारित की गई है। कुछ पदों के लिए दसवीं पास होना अनिवार्य है तो कुछ पदों के लिए आठवीं पास होना जरूरी।