inspace haldwani
Home उत्तरप्रदेश यूपी: सात खून के लिए फांसी की सजा पायी शबनम के बेटे...

यूपी: सात खून के लिए फांसी की सजा पायी शबनम के बेटे ने लगाई राष्‍ट्रपति से माफी की गुहार

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के अमरोहा पिछले 13 साल पहले सात लोगों को मौत के घाट उतारने वाली महिला की फांसी की सजा मुकर्रर होने के बाद अब महिला के बेटे ने राष्‍ट्रपति से दया माफी की गुहार लगाई है। गौरतलब है कि आजाद भारत में पहली बार किसी महिला को फांसी की सजा होने जा रही है। फांसी की तारीख अभी मुकर्रर नहीं हुई है लेकिन कानून के अनुसार उसे फांसी होना तय है। पिछले दिनों राष्‍ट्रपति ने महिला की दया याचिका खारिज कर दी थी जिसके बाद उसे फांसी की सजा होने के आसार प्रबल हो गए थे।

अपने परिवार के सात सदस्यों को मौत के घाट उतारने के लिए एक दोषी महिला को मथुरा जेल में फांसी दी जाएगी। अभी तक कोई डेथ वारंट जारी नहीं किया गया है। पश्चिमी यूपी के अमरोहा जिले की मूल निवासी शबनम को अपने परिवार के सात सदस्यों की हत्या के लिए दोषी ठहराया गया था।

अब शबनम को हत्या के लिए सजाए मौत दी जाएगी। शबनम ने जिस भी कोर्ट में अपील की, हर अदालत ने उन्हें फांसी की ही सजा सुनाई, यहां तक ​​कि सुप्रीम कोर्ट ने भी उसकी फांसी की सजा को बरकरार रखा। अब अंत में आखिरी उम्मीद भी खत्म हो गयी जब भारत के राष्ट्रपति ने उसकी दया याचिका खारिज कर दी। शबनम को मथुरा जेल में बने एकल महिला फांसी घर में फांसी दी जाएगी।

मौत की सजा पाने वाले शबनम के बेटे मोहम्मद ताज ने गुरुवार को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से उनकी मौत की सजा को माफ करने के लिए अपील की। ताज ने कहा, “मैं अपनी मां से प्यार करता हूं। मैं राष्ट्रपति से अपील कर रहा हूं कि उनकी मौत की सजा को माफ किया जाए। अपनी माँ के लिए “माफी” मांगते हुए एक स्लेट पर नोट भी लिखा। यह राष्ट्रपति पर निर्भर है कि वह उसे क्षमा करें।

14 अप्रैल 2008 को अमरोहा जिले के हसनपुर पुलिस थाना क्षेत्रों के अंतर्गत आने वाले बावनखेड़ा गाँव के एक शिक्षक शौकत अली की बेटी शबनम ने अपने पिता, माँ और यहाँ तक कि 10 महीने के भतीजे सहित परिवार के सात सदस्यों की बेरहमी से हत्या कर दी थी। शबनम एक पोस्ट ग्रेजुएट लड़की थी जो स्कूल में बढ़ाती थी। युवा उम्र में उसे एक पांचवी पास लड़के सलीम से प्यार हो जाता है लेकिन शबनम का परिवार इस रिश्ते के खिलाफ होता है। शबनम की शादी वह किसी भी कीमत पर सलीम से करने के लिए राजी नहीं होता है। शबनम 14 अप्रैल 2008 को सलीम के साथ मिलकर अपने परिवार के 7 सदस्यों को कुल्हाड़ी से काट कर मौत के घाट उतार देती हैं।

Related News

बरेली: गर्भवती की हालत बिगड़ता देख, नहीं किया कोरोना रिपोर्ट का इंतजार सर्जरी कर बचाई मरीज की जान

न्यूज टुडे नेटवर्क। उतारो मुझे जिस क्षेत्र में। सर्वश्रेष्ठ कर दिखाउंगी।। औरों से अलग हूं दिखने में। कुछ अलग कर के ही जाउंगी‌"... यह पंक्तियां महिला...

लखनऊ: व्यापारी के बेटे को बंदूक की नोंक पर बंधक बनाया और दिन दहाड़े शो रूम से लूट लिया लाखों का सोना चांदी

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। प्रदेश की राजधानी लखनऊ में दिन दहाड़े बदमाशों ने सर्राफ के बेटे को गन प्‍वाइंट पर लेकर शो रूम में लूटपाट...

पीलीभीत: प्रेम प्रसंग के चलते पड़ोसी प्रेमी के साथ युवती फरार, सुबह उठने पर घरवालों को हुई घटना की जानकारी

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। उत्‍तर प्रदेश के पीलीभीत जिले मे एक युवती अपने मां-बाप को छोड़कर पड़ोसी प्रेमी के साथ फरार हो गयी। युवती के...

बरेली: गांधी पार्क में प्रेमी जोड़ा मना रहा था रंगरेलियां, फिर वहां मौजूद लोगों ने किया ये काम, मिली सीख…    

न्‍यूज टुडे नेटवर्क, बरेली। शहर के प्रसिद्ध गांधी पार्क के खंडहर में एक प्रेमी युगल अश्लील हरकतें कर रहा था। पहले तो वहां मौजूद...

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर वरिष्ठ महिलाओं को बिना पंजीकरण मिली कोरोना वैक्सीन, महिला चिकित्सकों ने ही संभाली कमान

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर  मिशन शक्ति के अंतर्गत सोमवार को  बरेली के चयनित केंद्रों पर वरिष्ठ महिलाओं को कोविड-19 का टीका...

मां-बेटी को उतारा मौत के घाट, एकतरफा प्‍यार में पागल सिरफिरे आशिक की करतूत

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। आगरा जिले के बाह क्षेत्र के जरार कस्बे से दिल को हिला देने वाली घटना सामने आयी है। जिसमें एक सिरफिरे...