UP JOBS: ग्रामीणों को गांव में बैंकिंग सुविधा देने के लिए जल्‍द होगी इनकी तैनाती 

उत्तर प्रदेश सरकार जल्द ही प्रदेश में महिलाओं को रोजगार देकर गांव-गांव बैंकिंग सुविधा (banking facilities) देने की तैयारी कर रही है। वहीं सरकार के निर्देश पर लीड बैंकों ने इसकी तैयारी भी शुरू कर दी है। इसके पहले चरण में करीब 40 बैंकों में बैंकिंग करेस्पॉडेंट सखी (Banking correspondent friend) तैनात की जाएंगी। इससे ग्रामीणों को योजना की जानकारी और आवेदन के लिए बैंकों में भागदौड़ नहीं करनी होगी।
banksइसके तहत सभी बैंक सखी को बायोमेट्रिक मशीन और टेबलेट (Biometric machines and tablets) दिया जाएगा। इसकी मदद से वे बैंक खातों से जमा और निकासी करा सकेंगी। बैंक ऑफ बड़ौदा के मुख्य प्रबंधक दीपक चंद्रा ने बताया कि जनधन खाता, किसान सम्मान निधि, पेंशन जैसी तमाम जरूरतों के लिए ग्रामीणों को परेशान नहीं होना पड़ेगा। ब्लॉक स्तर (Block level) पर तैनात बैंक सखी से संपर्क कर वह घर पर ही बैंक की सुविधा ले सकेंगे।

सीडीओ बरेली चंद्र मोहन गर्ग ने बताया कि महिला स्वयं सहायता समूह में बीसी महिला पहले भी हो रही है। अब राज्य सरकार की गाइडलाइन (Guideline) आने का इंतजार है। सीडीओ के अनुसार राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत स्वयं सहायता समूह (Self help group) के सदस्य बैंक सखी के तौर पर काम करेंगी। वहीं 30 समूह के बैंक खाता पर एक बैंक सखी, 30 से 80 बैंक समूह पर दो और 160 समूह पर तीन बैंक सखी तैनात की जाएगी। विभाग की ओर से उनका मानदेय और कमीशन तय किया जाएगा।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें