UP BOARD RESULT 2020: कॉपियां जांचने में चूक पड़ेगी शिक्षकों पर भारी

UP BOARD RESULT 2020: यूपी बोर्ड की 10 वीं और 12 वीं की परीक्षाओं (Examinations) की कॉपियों का मूल्यांकन (Evaluation) 16 मार्च से शुरू होगा। मूल्यांकन में हुई चूक शिक्षकों पर भारी पड़ेगी है। बोर्ड मूल्यांकन (Board evaluation) के लिए निर्देश तैयार कर रहा है। मूल्यांकन की जांच में 2 प्रतिशत की भी गलती पाए जाने पर संबंधित परीक्षक (Examiner) के पारिश्रमिक से 85 प्रतिशत तक की कटौती की जाएगी और उस परीक्षक को तीन साल के लिए अयोग्य घोषित कर दिया जाएगा।

up board
प्रतीकात्मक फोटो

अधूरे जवाब में भी मिलेंगे अंक
10 वीं और 12 वीं की परीक्षाओं में अगर परीक्षार्थियों (Examinees) की कॉपी (Copy) पर सही उत्तर कटा हुआ मिला,‌ तब भी उन्हें पूरे नंबर मिलेंगे। बोर्ड की गाइडलाइंस (Guidelines) के अनुसार कभी-कभी ऐसा होता है कि परीक्षार्थी के हल को जानबूझकर परीक्षा केंद्र (Exam Center) पर कोई काट देता है ऐसे में यह ध्यान रखा जाएगा कि अगर कटा हुआ हल शुध्‍द और निर्धारित समय सीमा (Time Limit) के अंदर है तो उसका मूल्यांकन किया जाए। परीक्षकों को बताया गया कि स्टेप मार्किंग (Step Marking) की व्यवस्था होने के कारण यदि किसी परीक्षार्थी ने किसी प्रश्न पर आधा उत्तर लिखा है और वह सही है। तो उसे उसके अनुसार ही अंक दिए जाएंगे।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें