Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तरप्रदेश UP: लखनऊ केजीएमयू पता लगाएगा कि हवा में कोरोना वायरस है या...

UP: लखनऊ केजीएमयू पता लगाएगा कि हवा में कोरोना वायरस है या नहीं?

MJPRU: रुहेलखंड यूनिवर्सिटी फिर शुरू कर रहा है एमफार्मा, इन विषयों की होगी पढ़ाई

बरेली: रुहेलखंड यूनिवर्सिटी (Rohilkhand University) के फार्मेसी विभाग को एमफार्मा (M Pharma) पाठ्यक्रम दोबारा शुरू करने की अनुमति मिल गई है। इससे समय से...

COVID-19: देश में कोरोना के नए मामलों में आई कमी, 24 घंटे में सामने आए इतने नए केस

देश में पिछले 24 घंटे में आए कोरोना के नए मामलों में कमी आई है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के...

यूपी: भू-माफियों से खाली कराई जाएंगी जमीनें, योगी सरकार ने बनाई यह कार्ययोजना

योगी सरकार (Yogi government) एक बार फिर से भू-माफियों के खिलाफ सख्त नजर आ रही है। सरकार ने भू-माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करने की...

Bareilly: गर्मा गर्मी के बीच आए IMA पदों के नतीजे, देखें कौन बना नया अध्यक्ष

बरेली में आईएमए अध्यक्ष पद के चुनाव (IMA President election) के नतीजे सामने आ गए हैं। पति के लिए त्रिकोणीय मुकाबले में डॉ. विमल...

Covid Vaccine: खुशखबरी! जल्द मिलेगी ऑक्सफर्ड की कोविड वैक्सीन, फेज-3 ट्रायल शुरू

दुनिया भर के लोग कोरोना वायरस महामारी (Corona Virus Pandemic) से परेशान हो चुके हैं। इस वायरस का इलाज एकमात्र वैक्सीन (Vaccine) है। तो...

दुनिया में कोरोना वायरस (Corona Virus) को लेकर बहुत सारी रिसर्च (Research) चल रही हैं। कोरोना की हवा में मौजूदगी को लेकर बहस छिड़ी हुई है। इस से पर्दा उठाने के लिए केजीएमयू (KGMU) ने हवा में वायरस की मौजूदगी का पता लगाने के लिए रूपरेखा तैयार कर ली है। पल्मोनरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग (Department of Pulmonary and Critical Care Medicine) हवा में वायरस की मौजूदगी की पहचान करेगा। इस प्रोजेक्ट का सोमवार को विभाग में प्रस्तुतीकरण हुआ है।

research on coronaविभाग के अध्यक्ष के अनुसार यह शोध 400 मरीजों पर होगा। इसमें मेरठ के मरीजों (Patients) को भी शामिल किया जाएगा। सामान्य लोगों के साथ मरीजों को तीन श्रेणियां शोध का हिस्सा होंगी। शोध में शामिल लोगों से खास गुब्बारे (Balloons) में मुंह से हवा भरवा ही जाएगी। फिर उसकी एहतियात के साथ जांच होगी। जांच में खास तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा। हवा में वायरस (Virus) की मौजूदगी का पता लगाने के साथ-साथ मरीज के किस स्टेज (Stage) में पहुंचकर ज्यादा वायरस फैलता है, इसकी जानकारी भी होगी।

http://www.narayan98.co.in/

Uttarakhand Government

narayan college

https://youtu.be/yEWmOfXJRX8

Related News

MJPRU: रुहेलखंड यूनिवर्सिटी फिर शुरू कर रहा है एमफार्मा, इन विषयों की होगी पढ़ाई

बरेली: रुहेलखंड यूनिवर्सिटी (Rohilkhand University) के फार्मेसी विभाग को एमफार्मा (M Pharma) पाठ्यक्रम दोबारा शुरू करने की अनुमति मिल गई है। इससे समय से...

COVID-19: देश में कोरोना के नए मामलों में आई कमी, 24 घंटे में सामने आए इतने नए केस

देश में पिछले 24 घंटे में आए कोरोना के नए मामलों में कमी आई है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के...

यूपी: भू-माफियों से खाली कराई जाएंगी जमीनें, योगी सरकार ने बनाई यह कार्ययोजना

योगी सरकार (Yogi government) एक बार फिर से भू-माफियों के खिलाफ सख्त नजर आ रही है। सरकार ने भू-माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करने की...

Bareilly: गर्मा गर्मी के बीच आए IMA पदों के नतीजे, देखें कौन बना नया अध्यक्ष

बरेली में आईएमए अध्यक्ष पद के चुनाव (IMA President election) के नतीजे सामने आ गए हैं। पति के लिए त्रिकोणीय मुकाबले में डॉ. विमल...

Covid Vaccine: खुशखबरी! जल्द मिलेगी ऑक्सफर्ड की कोविड वैक्सीन, फेज-3 ट्रायल शुरू

दुनिया भर के लोग कोरोना वायरस महामारी (Corona Virus Pandemic) से परेशान हो चुके हैं। इस वायरस का इलाज एकमात्र वैक्सीन (Vaccine) है। तो...

Panchayat Election 2020: चुनाव आयोग ने जारी की एडवाइजरी, इन बातों का रखना होगा ध्यान

यूपी में पंचवर्षीय पंचायत चुनाव (Panchayat Election) की तैयारी जोरों पर है। पंचायत चुनाव के लिए अक्टूबर के शुरुआत से ही वोटर लिस्ट का...