Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तरप्रदेश UP: उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में खुलेंगे कॉमन...

UP: उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में खुलेंगे कॉमन फैसिलिटी सेंटर

मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ ने फिल्म सिटी को लेकर बॉलीवुड हस्तियों के साथ की बैठक, मुंबई फिल्म इंडस्ट्री के कलाकारों ने इस फैसले का किया...

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने प्रदेश में बनने वाली फिल्म सिटी (Film City) को लेकर आज लखनऊ स्थित अपने आवास पर फिल्म...

PM मोदी कल यूपी, दिल्ली, महाराष्ट्र समेत 7 राज्यों से करेंगे चर्चा, इसकी होगी समीक्षा

केंद्र सरकार व राज्य सरकारें कोरोना वायरस (Corona virus) की रोकथाम के लिए हर संभव कदम उठा रहे हैं। इसी दौरान अब पीएम नरेंद्र...

SSR Case: अब इतने दिन और जेल में रहेंगी रिया चक्रवर्ती, कोर्ट ने बढ़ाई हिरासत

सुपरस्टार सुशांत सिंह राजपूत (Superstar Sushant Singh Rajput) की मौत का राज अभी तक खुलकर सामने नहीं आया है। सुशांत की मौत अभी भी...

यूजीसी ने 1 नवंबर से फर्स्ट ईयर की कक्षाएं शुरू करने के दिए निर्देश, दाखिला रद्द करने पर मिलेगी पूरी फीस

कोरोना महामारी (Corona virus) के बीच यूजीसी (UGC) की गाइडलाइन (guidelines) के अनुसार अंतिम वर्ष की परीक्षाएं हो रही हैं। इसी बीच केंद्रीय शिक्षा...

सुशांत सिंह राजपूत ड्रग्स केस में एनसीबी सारा अली खान और श्रद्धा कपूर को इस हफ्ते भेज सकती है समन

सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh Rajput Case) जुड़े ड्रग्स मामले में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) की पूछताछ में कई बॉलीवुड सिलेब्रिटीज के नाम...

उत्तर प्रदेश (UP) के ग्रामीण क्षेत्रों में उद्योग से जुड़े कारीगरों की उत्पादों की गुणवत्ता बढ़ाने, अच्छी पैकेजिंग, मार्केटिंग के साथ कच्चा माल मुहैया कराने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में कॉमन फैसिलिटी सेंटर (Common Facility Centre) बनाए जाएंगे। खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड (Khadi and Village Industries Board) के माध्यम से प्रदेश में स्फूर्ति योजना के तहत कॉमन फैसिलिटी सेंटर बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

Common Facility Centerइच्छुक संस्थाओं को कॉमन फैसिलिटी सेंटर की स्थापना के लिए जमीन के साथ ही कुल लागत का सिर्फ 10 प्रतिशत खर्च करना होगा, बाकी 90 प्रतिशत धनराशि सरकार (Government) देगी। इस योजना का उद्देश्य परंपरागत उद्योगों, शिल्पकारों के समूह में प्रतिस्पर्धा का विकास, शिल्पियों, कारीगरों और ग्रामीण उद्यमियों को बहु उत्पाद समूहों की स्थापना तथा उत्पादन के विपणन क्षमता (Marketability) को बढ़ाना है। एमएसएमई मंत्रालय भारत सरकार (Ministry of MSME Government of India) ने इस योजना के क्रियान्वयन के लिए राज्यों में नोडल एजेंसी तय की है।

http://www.narayan98.co.in/

Uttarakhand Government

Narayan College

https://youtu.be/yEWmOfXJRX8

Related News

मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ ने फिल्म सिटी को लेकर बॉलीवुड हस्तियों के साथ की बैठक, मुंबई फिल्म इंडस्ट्री के कलाकारों ने इस फैसले का किया...

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने प्रदेश में बनने वाली फिल्म सिटी (Film City) को लेकर आज लखनऊ स्थित अपने आवास पर फिल्म...

PM मोदी कल यूपी, दिल्ली, महाराष्ट्र समेत 7 राज्यों से करेंगे चर्चा, इसकी होगी समीक्षा

केंद्र सरकार व राज्य सरकारें कोरोना वायरस (Corona virus) की रोकथाम के लिए हर संभव कदम उठा रहे हैं। इसी दौरान अब पीएम नरेंद्र...

SSR Case: अब इतने दिन और जेल में रहेंगी रिया चक्रवर्ती, कोर्ट ने बढ़ाई हिरासत

सुपरस्टार सुशांत सिंह राजपूत (Superstar Sushant Singh Rajput) की मौत का राज अभी तक खुलकर सामने नहीं आया है। सुशांत की मौत अभी भी...

यूजीसी ने 1 नवंबर से फर्स्ट ईयर की कक्षाएं शुरू करने के दिए निर्देश, दाखिला रद्द करने पर मिलेगी पूरी फीस

कोरोना महामारी (Corona virus) के बीच यूजीसी (UGC) की गाइडलाइन (guidelines) के अनुसार अंतिम वर्ष की परीक्षाएं हो रही हैं। इसी बीच केंद्रीय शिक्षा...

सुशांत सिंह राजपूत ड्रग्स केस में एनसीबी सारा अली खान और श्रद्धा कपूर को इस हफ्ते भेज सकती है समन

सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh Rajput Case) जुड़े ड्रग्स मामले में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) की पूछताछ में कई बॉलीवुड सिलेब्रिटीज के नाम...

महामारी संशोधन विधेयक 2020 को मिली मंजूरी, स्वास्थ्य कर्मियों को होगा लाभ

संसद में महामारी संशोधन विधेयक 2020 (Pandemic Amendment Bill) को मंजूरी मिल गई है। लोकसभा में देर रात इस विधेयक को बहुमत से पारित...