inspace haldwani
inspace haldwani
Home उत्तरप्रदेश UP: आजादी के बाद आकर बसने वाले इन जिलों के लोगों को...

UP: आजादी के बाद आकर बसने वाले इन जिलों के लोगों को जमीन पर मालिकाना हक देगी सरकार

बरेली: कारनामा- प्रधान ने अपने रिश्तेदार को करा दिया तालाब पर कब्जा

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। सरकारी जमीन की हिफाजत का जिम्मा जिनके सिर पर है वही अपने रिस्तेदारों व समर्थकों को उन पर अबैध कब्जा करवा...

सीतापुर: खेत में शौच को गई नाबालिग के साथ दो युवकों ने किया दुष्कर्म

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के जिला सीतापुर में शौच करने गई नाबालिक लकड़ी के साथ गांव के ही दो लड़को ने बंधक बना कर...

बाराबंकी: रिश्तों की उदासीनता ने ले ली महिला की जान, बेटों के घर ना आने के गम में लगा ली फांसी

न्यूज टुडे नेटवर्क। गांव से शहर नौकरी करने गए बेटे जब घर नहीं लौटे तो मां मायूस हो गई। इससे वह काफी तनावग्रस्‍त रहने...

छत्तीसगढ़: सुकमा में बारूदी सुरंग विस्फोट, सीआरपीएफ का एक अफसर शहीद, नौ कमांडो घायल

न्‍यूज टुडे नेटवर्क । डत्‍तीसगढ़ के सुकमा जिले में बारूदी सुरंग में विस्‍फोट होने से एक सीआरपीएफ के एक सहायक कमांडेंट शहीद हो गए।...

कुशीनगर: जिस दिन डोली उठनी थी उसी दिन उठी दुल्हन की अर्थी

न्यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के कुशीनगर में एक परिवार की खुशियां मातम में बदल गईं। कुशीनगर के नुबुआ नौरंगिया थाना क्षेत्र के गांव में...

प्रदेश सरकार (State Government) आजादी के बाद आकर राज्य में बसने वाले लोगों को जमीन पर मालिकाना हक (Owner’s right) देगी। बिजनौर, रामपुर, पीलीभीत और लखीमपुर खीरी में आजादी के बाद आकर बसने वाले लोगों को जमीन का मालिकाना हक देने के मामले को लेकर समिति (Committee) बना दी गई है। मंडलायुक्त की अध्यक्षता में बनाई गई यह समिति तीन महीने में राजस्व विभाग (Revenue Department) को अपनी रिपोर्ट देगी।
बिजनौर, रामपुर, पीलीभीत और लखीमपुर खीरी में आजादी के बाद विभिन्न स्थानों से आकर परिवार बस गए हैं। इनकी जमीनों को लेकर विवाद चल रहा है। इस पर इन परिवारों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) से मिलकर समस्या के समाधान का अनुरोध किया था। इसी के आधार पर अपर मुख्य सचिव राजस्व (Additional Chief Secretary Revenue) ने समिति बनाने का फैसला किया है। संबंधित जिलों के मंडलायुक्त ही इसके अध्यक्ष होंगे।

http://www.narayan98.co.in/

naryan college

https://youtu.be/yEWmOfXJRX8

समिति परीक्षण करेगी कि वर्ष 1947 से कब्जा होने व उस जमीन पर खेती होने के बावजूद वह जमीन वन भूमि (Forest land) के रूप में कैसे दर्ज कर दी है। अगर यह अतिक्रमण 1980 से पहले का है तो क्या ऐसे ‘पुराने अतिक्रमण को नियमित किया जाए’ के तहत कार्रवाई करते हुए किसानों को राहत दी जा सकती है। साथ ही समिति यह भी रिपोर्ट (Report) देगी कि किसानों की समस्याओं के निराकरण के लिए रोडमैप क्या होना चाहिए।

Related News

बरेली: कारनामा- प्रधान ने अपने रिश्तेदार को करा दिया तालाब पर कब्जा

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। सरकारी जमीन की हिफाजत का जिम्मा जिनके सिर पर है वही अपने रिस्तेदारों व समर्थकों को उन पर अबैध कब्जा करवा...

सीतापुर: खेत में शौच को गई नाबालिग के साथ दो युवकों ने किया दुष्कर्म

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के जिला सीतापुर में शौच करने गई नाबालिक लकड़ी के साथ गांव के ही दो लड़को ने बंधक बना कर...

बाराबंकी: रिश्तों की उदासीनता ने ले ली महिला की जान, बेटों के घर ना आने के गम में लगा ली फांसी

न्यूज टुडे नेटवर्क। गांव से शहर नौकरी करने गए बेटे जब घर नहीं लौटे तो मां मायूस हो गई। इससे वह काफी तनावग्रस्‍त रहने...

छत्तीसगढ़: सुकमा में बारूदी सुरंग विस्फोट, सीआरपीएफ का एक अफसर शहीद, नौ कमांडो घायल

न्‍यूज टुडे नेटवर्क । डत्‍तीसगढ़ के सुकमा जिले में बारूदी सुरंग में विस्‍फोट होने से एक सीआरपीएफ के एक सहायक कमांडेंट शहीद हो गए।...

कुशीनगर: जिस दिन डोली उठनी थी उसी दिन उठी दुल्हन की अर्थी

न्यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के कुशीनगर में एक परिवार की खुशियां मातम में बदल गईं। कुशीनगर के नुबुआ नौरंगिया थाना क्षेत्र के गांव में...

सीएम योगी ने प्रदेश की 1825 सड़कों का किया शिलान्यास, वर्चुअली समारोह में मौजूद रहे सीएम

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। उत्‍तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने प्रदेश भर में बनने वाली 1825 सड़कों का रविवार को शिलान्‍यास किया। वर्चुअल शिलान्‍यास...