inspace haldwani
Home पर्यटन अनोखा मंदिर : नर्क की दुनिया देखनी है तो कीजिए यहां की...

अनोखा मंदिर : नर्क की दुनिया देखनी है तो कीजिए यहां की सैर, मूर्तियां देख उड़ जाएंगे आपके होश

नई दिल्ली-न्यूज टुडे नेटवर्क : जब भी मंदिर का नाम सुनने में आता है तो जहन में आस्था और श्रद्धा के भाव जाग जाते हैं। इस नरक मंदिर की खास बात ये है कि दुनिया का एकमात्र ऐसा मन्दिर है जहाँ श्रद्धालु किसी भी देवता की पूजा नही करते हैं बल्कि इंसान के मरने के बाद अपने किये हुए पापो की जो सजा नर्क में मिलती है उसे देखने आते है। ये मंदिर कोई ऐसा-वैसा मंदिर नहीं है बल्कि धरती पर नरक के सामान है, इस मंदिर से जुड़ी कुछ रोचक बातें भी आप जान लीजिये।

δÌâæx

थाईलैंड में स्थित है यह मंदिर

दक्षिण पूर्वी एशिया के देश थाईलैंड के शहर चियांग माइ में वाट माइ केट नाइ नाम का यह मंदिर बहुत फेमस हैं। यहां पर लोग किसी देवी देवता नहीं बल्कि नर्क के दर्शन करने आते हैं। यहां पर आपको किसी भी भगवान की मूर्ति नहीं मिलेगी। यहां पर आपको वह मूर्तियां मिलेंगी जो यह दर्शाती हैं कि मरने के बाद नर्क जाने वाले को कैसी सजा मिलती है।

nark1

बौद्ध भिक्षु ने बनवाया था यह मंदिर

थाईलैंड की राजधानी बैंकाक से लगभग 700 किमी दूर चियांग शहर में ऐसा एकलौता अनूठा मंदिर है। ऐसे अनूठे मंदिर को बनाने के पीछे बौद्ध भिक्षु विशानजलिकोन का हाथ था। ऐसा अनोखा मदिंर बनाने के पीछे उनका यह मकसद था कि लोग इन मूर्तियों को देखकर डरें और अच्छे काम करें। उन्हें पता चलेगा कि बुरे काम करने से यातना सहनी पड़ती है तो लोग अच्छा काम करने लगेंगे। यह मंदिर लोगों के बीच बहुत प्रसिद्ध हो चुका है।

nark5

अपराध के अनुसार मिलती हैं यातनाएं

इस नरक मंदिर में कई ऐसी मुर्तिया लगी है जिसमे बताया गया है की इंसान को उसके अपराधो के अनुसार नरक में कैसी कैसी यातनाये सहनी पड़ती है। इन मूर्तियों में तरह तरह के अपराधो के लिये दिये गये दण्ड को दिखाया गया है। इन अपराधो में हत्या करना, लालच करना, शराब पीना, चोरी करना, ड्रग्स लेना, गर्भपात कराना, व्याभिचार और रेप करना जैसे ओर भी अपराध शामिल है। इन मूर्तियों में दिखाया गया है की चोरी करने के लिये हाथ काटने की सजा दी जाती है, तो रेप करने पर यौन अंगो को काट दिया जाता है। व्याभिचारियो और बलात्कारियो के लिए यह एक चुनौती के समान है।

thai-3

मूर्तियां जो नर्क के बारे में करती हैं बयां

दरअसल इस मंदिर में भगवान बुद्ध को ज्यादा माना जाता है, इस मन्दिर में बहुत सी ऐसी मूर्तियां मौजूद हैं, जो हमे नर्क के बारे में पूरी कहानी बयान करती हैं। कहा जाता है कि इन मूर्तियों को देखकर ही पता चल जाता है कि नर्क में जाने वाले इन्सानों को किस मुश्किल यातनाओ का सामना करना पड़ता होगा।

 

Related News

पर्यटन दिवस पर बोले मंत्री- साहसिक खेलों का केन्द्र बनेगा कारगिल

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। जम्मू कश्मीर के कारगिल सेक्टर में आज राष्ट्रीय पर्यटन दिवस मनाया गया स्थानीय युवाओं की प्रतिभाओं को सामने लाने तथा कारगिल...

Whaatsup privacy policy: केन्द्र सरकार ने sc से कहा- भारतीय और यूरोपीय यूजर्स के सा‍थ अलग अलग व्यवहार चिंताजनक

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। सोशल नेटवर्किंग साइट व्‍हाट्सएप पर भारतीय उपयोगकर्ताओं के लिए एकतरफा निजती नीति को लेकर केन्‍द्र सरकार ने चिंता जताई है। केन्‍द्र...

चमोली- हिमालय दर्शन के लिए शुरू हुई ये खास सुविधा, एक बार में 5 पर्यटक कर सकेंगे दीदार

उत्तराखंड के चमोली में जोशीमठ के रविग्राम स्थित हेलीपैड से हिमालय दर्शन के लिए हेलीकॉप्टर सेवा आज से शुरू हो गई है। हेलीकॉप्टर से...

देहरादून- टिंबरसैंण महादेव यात्रा को सरकार ने दी हरी झंडी, इस दिन से शुरू होगी यात्रा

बाबा अमरनाथ की तर्ज पर देश-दुनिया के तीर्थ यात्री अब उत्तराखंड की नीती घाटी में टिंबरसैंण महादेव की यात्रा कर सकेंगे। मार्च से यात्रा...

जर्मनी में दुकानों- परिवहनों में फेस मास्क पहनना अनिवार्य

बर्लिन। जर्मनी में दुकानों तथा सार्वजनिक परिवहन में चिकित्सकीय फेस मास्क पहनना अनिवार्य होगा। जर्मनी की चांसलर एंजेला मकेर्ल ने मंगलवार को इसकी घोषणा की।उन्होंने...

विश्व में कोरोना संक्रमण से 20.39 लाख से अधिक लोगों की मौत, साढ़े नौ करोड़ से भी अधिक प्रभावित

वाशिंगटन/रियो डि जेनेरो/नयी दिल्ली, न्‍यूज टुडे नेटवर्क। विश्व में जानलेवा कोरोना वायरस (कोविड-19) का प्रकोप  थमने का नाम नहीं ले रहा और अभी तक...