inspace haldwani
inspace haldwani
Home उत्तरप्रदेश शाहजहांपुर : अनूठी मिसाल - यूपी का ये मुस्लिम परिवार जपता है...

शाहजहांपुर : अनूठी मिसाल – यूपी का ये मुस्लिम परिवार जपता है राम-राम, शादी के कार्ड पर छपवाई भगवान राम-सीता की तस्वीर

एक साल के बेटे को कान से कम सुनाई देता था, मां ने हत्या कर खुद भी मौत को गले लगा ली

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। मामला पश्‍च‍िम बंगाल के आसनसोल शहर का जहा मां ने  कान से कम सुनाई देने के कारण अपने एक साल के बेटे...

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल का कोरोना संक्रमित होने के बाद निधन

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। कांग्रेस के बड़े नेताओ में गिने जाने वाले  अहमद पटेल का आज सुबह निधन हो गया है. अहमद पटेल  एक महीना पहले...

शौंचालय निर्माण में नहीं हो रहा मानक कै अनुरुप सामग्री का प्रयोग

पीलीभीतःशौचालय निर्माण में मानक के अनुरुप सामग्री  प्रयोग नहीं किए जाने से ग्रामीणों  में काफी रोष है ।थाना हजारा क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम शास्त्री...

ऑल इंडिया कल्चर एसोसिएशन द्वारा बैठक का आयोजन

बरेली l कौमी एकता सप्ताह छठा दिन 24 नवम्बर आल इण्डिया कल्चरल एसोसिएशन ( ऐका ) बरेली द्वारा मनाये जा रहे कौमी एकता सप्ताह...

शिक्षक एमएलसी चुनाव मतदाता सम्मेलन

बरेली l भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी डॉ हरी सिंह ढिल्लों के समर्थन में भाजपा महानगर द्वारा मतदाता सम्मेलन का आयोजन संगम पैलेस कुदेशिया...

शाहजहांपुर-न्यूज टुडे नेटवर्क : निमंत्रण कार्ड तो आपने बहुत देखे होंगे, लेकिन जिले का ऐसा निमंत्रण कार्ड जिसकी हर कोई तारीफ कर रहा है। दरअसल बात हो रही है एक मुस्लिम परिवार द्वारा बेटी की शादी के लिए दिए जाने वाले निमंत्रण कार्ड की। इस कार्ड पर भगवान राम-सीता के स्वयंवर की तस्वीर छपवा कर इस परिवार ने हिंदू -मुस्लिम एकता की अनूठी मिसाल पेश की है।

ram

राम सीता के स्वयंवर की फोटो

लोस चुनाव 2019 में एक तरफ धर्म के नाम पर राजनीतिक रोटियां सेंकी जा रही हैं वहीं उत्तर प्रदेश शाहजहांपुर के अल्लागंज थानाक्षेत्र के चिलौआ गांव में रहने वाले इबारत अली की बेटी की 30 अप्रैल को अल्लाहगंज निवासी सोनू के बेटे के साथ शादी होनी है। भगवान राम में आस्था रखने वाले इबारत अली ने बेटी की शादी में न्यौता देने के लिए निमंत्रण पत्र में मक्का मदीना या मुस्लिम धर्म के फोटो ना छपवा कर भगवान राम और सीता के स्वयंबर की फोटो छपवाई है। रहमत अली के परिवार का कहना है कि मुस्लिम होने से पहले वह एक हिन्दुस्तानी हैं।

muslim-

मंदिर में देवी मां को पहला कार्ड चढ़ाया

इबादत अली ने बताया कि चिलौआ गांव में 1800 की हिन्दू आबादी है । गांव में अकेले उनका ही मुस्लिम परिवार रहता है परंतु ‘‘हिंदुओं ने हमें कभी भी एहसास नहीं होने दिया कि हम मुस्लिम हैं ।’’ उन्होंने बताया कि वह हिन्दू—मुस्लिम दोनों धर्मों को मानने वाले व्यक्ति हैं इसीलिए गांव के प्रसिद्ध देवी मंदिर में उन्होंने सबसे पहले अपनी बेटी का निमंत्रण पत्र चिलौआ देवी माता को अर्पित किया है। फिलहाल मुस्लिम परिवार के घर में होने वाली शादी के निमंत्रण कार्ड पर भगवान राम और सीता का फोटो पूरे क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है।

Related News

एक साल के बेटे को कान से कम सुनाई देता था, मां ने हत्या कर खुद भी मौत को गले लगा ली

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। मामला पश्‍च‍िम बंगाल के आसनसोल शहर का जहा मां ने  कान से कम सुनाई देने के कारण अपने एक साल के बेटे...

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल का कोरोना संक्रमित होने के बाद निधन

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। कांग्रेस के बड़े नेताओ में गिने जाने वाले  अहमद पटेल का आज सुबह निधन हो गया है. अहमद पटेल  एक महीना पहले...

शौंचालय निर्माण में नहीं हो रहा मानक कै अनुरुप सामग्री का प्रयोग

पीलीभीतःशौचालय निर्माण में मानक के अनुरुप सामग्री  प्रयोग नहीं किए जाने से ग्रामीणों  में काफी रोष है ।थाना हजारा क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम शास्त्री...

ऑल इंडिया कल्चर एसोसिएशन द्वारा बैठक का आयोजन

बरेली l कौमी एकता सप्ताह छठा दिन 24 नवम्बर आल इण्डिया कल्चरल एसोसिएशन ( ऐका ) बरेली द्वारा मनाये जा रहे कौमी एकता सप्ताह...

शिक्षक एमएलसी चुनाव मतदाता सम्मेलन

बरेली l भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी डॉ हरी सिंह ढिल्लों के समर्थन में भाजपा महानगर द्वारा मतदाता सम्मेलन का आयोजन संगम पैलेस कुदेशिया...

तहसील से घर लौट रहे 28 वर्षीय प्राइवेट कर्मचारी की चाकु से गोदकर हत्या,जांच में जुटी पुलिस

बरेलीःतहसील से घर लौट रहे एक प्राइवेट कर्मचारी की हत्यारो ने चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी। हत्यारो ने कर्मचारी के शव को गन्ने...