drishti haldwani

डेयर डेविल्स अभियान के तहत 7 पर्वतारोहियों के शव रेस्क्यू कर लाएं गये हल्द्वानी, वीडियोग्राफी के साथ होगा पोस्टमार्टम

146

नंदा देवी आरोहण अभियान के दौरान एवलांच की चपेट में आने से मृत आठ में से सात पर्वतारोहियों के शव को एयरलिफ्ट कर लिया गया है। पहले चरण में दो बार में दो दो कर चार शव एयरलिफ्ट किए गए वहीं दूसरे चरण में तीन शव लाए गए। शवों को पोस्टमार्टम के लिए पिथौरागढ़ नैनी सैनी हवाई पट्टी से हल्द्वानी लाया गया है। एमआई 17 हेलीकाप्टर से पर्वतारोहियों के शवों को पिथौरागढ़ से आज पंचनामा भर हल्द्वानी के पोस्टमार्टम हाउस पहुंचाया गया है।

iimt haldwani

फिलहाल सात में से दो पर्वतारोहियों की शिनाख्त की जा चुकी है, जिसमें उत्तराखंड के अल्मोड़ा निवासी चेतन पांडे निवासी और रुथ मेकेन निवासी ऑस्ट्रेलियन शामिल है। जानकारी मुताबिक यहां सभी 7 पर्वतारोहियों के शवों का पोस्टमार्टम डॉक्टरों का पैनल वीडियोग्राफी के साथ करेगा। जिसके बाद सभी शवों को प्रिजर्वेशन में रखा जाएगा। इधर प्रशासन द्वारा लगातार एम्बेसी से सम्पर्क किया जा रहा है। वही अन्य शवों की शिनाख्त करने का प्रयास किया जा रहा है।

nanda devi rescue

डेयर डेविल्स अभियान के तहत किया रेस्क्यू

बता दें कि नंदा देवी में लापता सात विदेशी पर्वतारोहियों और एक भारतीय लाइजनिंग ऑफिसर की खोज एवं बचाव के लिए आइटीबीपी के नेतृत्व में चले डेयर डेविल्स अभियान के तहत रेस्क्यू दल ने बीते दिनों आठ में से सात शव बर्फ से निकाल लिए थे। नंदा देवी में मौसम खराब होने से आगे का कार्य नहीं चल पा रहा था।

सोमवार को मौसम के साथ देने बाद रेस्क्यू दल ने 17450 फीट की ऊंचाई पर स्थित कैंप दो से शवों को लाने का अभियान चलाया। नंदा देवी में दूसरी तरफ दुर्घटना साइट में जाकर चार शवों को साढ़े ग्यारह घंटे तक रेस्क्यू चला कर 18900 फीट की ऊंचाई पर स्थित चोटी तक पहुंचाया। मौसम खराब होने से तीन शवों को मंगलवार को इस ऊंचाई तक पहुंचाया गया था।