drishti haldwani

उदय योजना : अगर समय पर बिजली का बिल जमा किया तो, मिलेगी इतनी छूट, कि आप की हो जाएगी बल्ले-बल्ले

172

बिजली उपभोक्ताओं के लिए बिजली कंपनी द्वारा एक राहत भरी योजना शुरू की है। जिसमें समय से पहले बिजली का बिल जमा करने के लिए उपभोक्ताओं को उदय योजना के तहत  स्पेशल छूट दी जाएगी। लोगों द्वारा बिजली का बिल जमा करने की आखिरी मियाद का इंतजार करना आम आदत में शामिल हो गया है। जिसके चलते 50 फीसदी से अधिक उपभोक्ता तय तारीख के आसपास ही बिल जमा करते हैं। इसी आदत को बदलने के लिए बिजली कंपनी ने योजना शुरू की है। अब यदि उपभोक्ता निर्धारित समय से 7 दिन पहले बिजली का बिल जमा करते हैं तो उन्हें 0.5 फीसदी बिल में छूट दी जाएगी।

iimt haldwani

उत्तर प्रदेश के बिजली उपभोक्ताओं को बिजली दर वृद्धि का करंट देने जा रहे पावर कॉरपोरेशन को खुद तगड़ा झटका लग सकता है। उदय स्कीम से घाटे की भरपाई करने के बावजूद उपभोक्ताओं को इसका लाभ न देने के मामले में उप्र विद्युत नियामक आयोग ने उपभोक्ताओं के साथ ही कॉरपोरेशन से सुझाव और आपत्तियां मांगी हैं। ऐसे में तय माना जा रहा है कि अब महंगी बिजली से राहत के साथ ही 4.28 फीसद रेगुलेटरी सरचार्ज माफी या छूट के दूसरे रास्ते उपभोक्ताओं के लिए खुल सकते हैं।

bijali4

दरअसल, वर्ष 2016 में बिजली कंपनियों का कुल घाटा 70,738 करोड़ था। घाटे से उबारने वाली केंद्र सरकार की उदय योजना के तहत उप्र की बिजली कंपनियों ने भी अनुबंध किया था। अनुबंध के तहत घाटे का 53,211 करोड़ बैंक ऋण था, जिसका 75 फीसद यानी 39,908 रुपये राज्य सरकार ने वहन कर लिया। बिजली कंपनियों के बड़े घाटे की भरपाई सरकार द्वारा करने के बावजूद, बिजली कंपनियां, उपभोक्ताओं से 4.28 रेगुलेटरी सरचार्ज वसूलती रहीं। इस पर राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा की याचिका पर उप्र विद्युत नियामक आयोग ने कॉरपोरेशन से कई बार रिपोर्ट तलब की और जवाब मांगा।

नहीं मिल रहा था लाभ

light3

उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष व राज्य सलाहकार समिति के सदस्य अवधेश कुमार वर्मा ने बताया कि नियामक आयोग ने संबंधित प्रपत्र अपनी वेबसाइट पर डाल दिया है और प्रदेश के उपभोक्ताओं, बिजली कंपनियों व सभी पक्षों से 15 दिन में सुझाव व आपत्ति मांगी है। इसमें आयोग द्वारा विद्युत उपभोक्ताओं के लिए दो विकल्प दिए गए हैं। भरपाई करने के लिए उद्यमियों को समय से बिल जमा करने पर 2.5 फीसद और घरेलू सहित अन्य उपभोक्ताओं को समय से बिल जमा करने पर पांच फीसद की छूट दी जाए। इसके साथ ही 4.28 फीसद रेगुलेटरी सरचार्ज समाप्त हो। दूसरा विकल्प यह है कि उदय स्कीम के तहत जो लाभ उपभोक्ताओं को मिलना है, उसके एवज में बिजली की दरों में कोई भी बढ़ोतरी न की जाए।

bijali2 (1)

ऐसे समझें फायदे का सौदा

बिजली कंपनी ने उपभोक्ता के घर मान लीजिए 5 हजार रुपए का बिजली बिल भेजा। उपभोक्ता ने बिल मिलने पर तय समय में भुगतान कर दिया तो उसे आगामी माह में मिलने वाले बिल में 25 रुपए की छूट मिलेगी। अभी तक ऑनलाइन भुगतान करने पर बिजली उपभोक्ता को नियमानुसार बिजली कंपनी आगामी बिल में 0.5 फीसद की छूट देती है। न्यूनतम 5 रुपए से अधिकतम 20 रुपए की छूट दी जाती है। बिजली कंपनी का नया प्रस्ताव पारित हुआ तो उपभोक्ता को ऑनलाइन के साथ समय पर बिल जमा करने के लिए भी दोहरी छूट मिल सकेगी।