हल्द्वानी- प्रशासन ने इस तरह पढ़ाया लोगो को ट्रैफिक नियमों का पाठ, दिए ये खास संदेश

88

हल्द्वानी- न्यूज टुडे नेटवर्क: नगर की जनता को यातायात नियमों का पाठ पढ़ाने के लिए आज पुलिस व परिवहन विभाग ने यातायात जागरूकता रैली निकाली। इस दौरान जहां पुलिस की कई टीमों ने लोगो को शहर के विभिन्न श्रेत्रों में जाकर ट्रैफिक नियमों के प्रती जागरूक किया। वही परिवहन विभाग द्वारा रैली में डीजीटल माध्यम से स्लोगन के जरिए चालकों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक किया गया।

15 टीमें बनाई गई

पुलिस सड़क सुरक्षा जागरूकता रैली का शुभारंभ एसपी यातायात रचिता जुयाल ने झंडी दिखाकर किया। रैली के माध्यम से वाहन चलाते समय मोबाइल में बात न करने, हेलमेट अनिवार्य रूप से पहनने, चौपहिया वाहनों में सीट बेल्ट लगाने, नाबालिग बच्चों को वाहन न देने जैसे संदेश दिये गए। जागरूकता रैली पुलिस बहुद्देशीय भवन परिसर से शुरू होकर नैनीताल रोड, नवाबी रोड, कालाढूंगी रोड, मुखानी,

रामपुर रोड, हीरानगर समेत विभिन्न मार्गों से होते हुए पुन: बहुद्देशीय भवन पहुंचकर समाप्त हुई। इस दौरान एसएसपी सुनील कुमार मीणा ने कहा कि सडक़ सुरक्षा रैली का उद्देश्य लोगों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करना है। वही सडक़ सुरक्षा रैली के तहत 15 टीमें बनाई गई हैं जिन्हें तिकोनिया चौराहे से अलग-अलग क्षेत्रों के लिए रवाना किया गया, इस दौरान सभी टीमों ने लोगों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक किया।

डीजीटल माध्यम से किया जागरूक

30 मई राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह का हल्द्वानी में विधिवत शुभारंभ किया गया। इस दौरान परिवहन विभाग द्वारा आयोजित सड़क जागरूकता एवं सुरक्षा सप्ताह रैली को आरटीओ राजीव मेहरा ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस दौरान यातायात रैली ने जहां सड़क सुरक्षा के प्रति लोगों को जागरूक करते हुए यातायात के नियमों का पालन करने की अपील की, तो वही डीजीटल माध्यम से शॉर्ट फिल्म दिखाकर भी लोगों को यातायात के नियम सिखाएं।

इस दौरान एआरटीओ संदीप वर्मा ने कहा कि 10 फरवरी तक परिवहन विभाग द्वारा सड़क सुरक्षा एवं जागरूकता सप्ताह मनाया जाएगा, हर दिन अलग-अलग कार्यक्रमों के माध्यम से स्कूली बच्चों व आम जनता को यातायात के नियमों का पाठ पढ़ाया जाएगा। वही रैली के माध्यम से वाहन चालकों को ओपरस्पीडिंग व ओवरलोडिंग न करने, गलत ढंग से ओवरटेक न करने, वाहन चलाते समय मोबाइल का प्रयोग न करने, शराब पीकर वाहन न चलाने, दोपहिया वाहन चलाते समय हेलमेट लगाने, सीट बैल्ट का प्रयोग करने, वाहन का समय-समय पर यांत्रिक परीक्षण कराने, वाहनों के कागजात व लाइसेंस साथ में रखने, रात्रि में लोबिम लाइट का प्रयोग करने जैसे नियमों के प्रति जागरूक किया जाएगा।