drishti haldwani

हरिद्वार-चार दिन के बाद पकड़ा गया तीन लोगों का हत्यारा, प्रशासन के जान में आई जान

401

हरिद्वार-न्यूज टुडे नेटवर्क-आखिरकार वन विभाग की टीम ने हत्यारे हाथी को पकडऩे में सफलता हासिल कर ही ली। चार दिन की कड़ी मेहनत के बाद शुक्रवार सुबह जंगली हाथी को ट्रेंकुलाइज किया गया। इस काम में राजाजी नेशनल पार्क के दोनों पालतू हाथी राधा व रंगीली का बड़ा योगदान रहा। ये जंगली हाथी अब तक तीन लोगों को मौत के घाट उतार चुका है। जिसके बाद विभाग की टीम ने क्रेन की मदद से हाथी को ट्रक में लाद दिया। अब वन विभाग हाथी को उस स्थान पर ले जाने की तैयारी कर रहा है, जहां उसे ट्रीटमेंट दिया जाएगा। वन विभाग ये रणनीति भी बना रहा है कि आगे हाथी को जंगल में छोड़ा जाएगा या फिर उसे पालतू बनाया जाएगा। जिसके बाद लोगों ने चैन की सांस ली।

iimt haldwani

तीन लोगों को उतार चुका था मौत के घाट

गौरतलब है कि बीते रविवार को ये हाथी भेल क्षेत्र के सेक्टर टू आबादी इलाके में घुस गया था। जिससे मौके पर हडक़ंप मच गया। लोगों को हाथी के हमले से बचाने के लिए उसे जंगल की ओर खदेड़ दिया था। इसी के साथ उसे जंगल में चारों ओर घेर लिया था।लोगों ने कहा कि इस खूनी टस्कर ने पिछले पांच महीनों में तीन लोगों को मौत के घाट उतार दिया था। दोपहर बाद देहरादून से हाथी को पकडऩे के लिए वन विभाग की रेस्क्यू टीम पहुंच गई थी। टीम ने हाथी को पकडऩे की तैयारियां शुरू कर दी थी। इसके लिए भेल के सेक्टर टू मेटेरियल गेट के बाहर वाला रास्ता बंद कर दिया गया था। लेकिन शाम हो जाने पर शासन के निर्देश पर रात में हाथी को ट्रेंकुलाइज करने का कार्य रोक दिया गया। सुबह हाथी को पकडऩे की योजना बनाई गईए जिससे अब सुबह हाथी को ट्रेंकुलाइज करने के लिए अभियान चलाया गया। आसपास हाथी को देखने के लिए भारी संख्या में लोग पहुंचे हुए है। जिनको लगभग आधा किलोमीटर दूर ही बैरिकेट्स लगाकर रोका गया है। पुलिस ने सुरक्षा के मद्देनजर क्षेत्र में यातायात भी डायवर्ट कर दिया है। जिसके बाद हाथी को पकडऩे में वन विभाग की टीम सफल साबित हुई।