PMS Group Venture haldwani

हल्द्वानी- वर्ल्ड रिकॉर्ड ऑफ इंडिया में दर्ज हुआ पिथौरागढ़ के इस लाल का नाम, बनाया ये अनोखा विश्व रिकॉर्ड

हल्द्वानी- न्यूज टुडे नेटवर्क- उत्तराखंड के इतिहास में आज का दिन दर्ज हो गया। पिथौरागढ़ के मनीष कसनियाल ने अनोखा विश्व रिकॉर्ड बना दिया। मनीष ने सबसे कम उम्र में नंदा लपाक पर्वत फतह करने का कारनामा कर डाला। आइस संस्था के पर्वतारोही मनीष कसनियाल का वल्र्ड रिकॉर्ड ऑफ इंडिया में नाम दर्ज हो गया। जिसे बाद पिथौरागढ़ समेत पूरे भारतवर्ष में जश्न का माहौल है। मनीष ने विश्व में उत्तराखंड का नाम रोशन कर दिया। प्रदेश में एक से बढक़र एक प्रतिभाऐं सामने आ रही है। जो हर दिन अपने हुनर से उत्तराखंड का नाम रोशन कर रही है। उन्हीं में आज मनीष के रूप में उत्तराखंड को एक और चमकता हुआ सितारा मिल गया। मनीष की इस सफलता से उनके परिजनों समेत जिले भर में खुशी का माहौल है।

विश्व के सबसे कम उम्र के पर्वतारोही बने मनीष

मनीष कसनियाल पुत्र सुरेश चंद्र कसनियाल कासनी के निवासी है। मनीष का चयन भारतीय पर्वतारोहण संस्थान के सहयोग से लाइजन ऑफिसर में नंदादेवी पर्वत के आरोहण के लिए सितंबर में हुआ था। उन्होंने जोहार घाटी में नंदा लपाक पर्वत वेस्ट रिज पहली बार फतह की। 5 किमी की अननेम्ड धार चक्कर उसका नाम वासुदेव धार किया। इस रिकॉर्ड को भारतीय पर्वतारोहण संस्थान ने मंजूरी दी और उनके रिकॉर्ड बुक के आधार पर वह दुनियां के कम उम्र के पर्वतारोही में शामिल हुए। इसके आधार पर वल्र्ड रिकॉर्ड ऑफ इंडिया में इनका नाम दर्ज हो चुका है। वही निदेशक आइस संस्था वरिष्ठ पर्वतारोही पुरमल सिंह धर्मशक्तू ने बताया कि संस्था की यह इस साल की दूसरी बड़ी उपलब्धि है। मनीष की इस उपलब्धि पर डीएम सी रविशंकर, सीडीओ वंदना, डीडीओ गोपाल गिरी गोस्वामी, जगदीश कलोनी, सुरेश चंद, जया पांडेय, पूनम खत्री, नंदा वर्मा, जगदीश भट्ट, योगेश पाठक ने बधाई दी है।

(कोरोना वायरस)उत्तराखंड के पहले ट्रेनी IFS अफसर जिन्होंने मौत को मात दी, देखिये पूरी कहानी