PMS Group Venture haldwani

नई दिल्ली- यह कंपनी एक साल तक बिना स्मार्टफोन के रहने पर देगी लाखों रुपये, जाने कैसे करें प्रतिभाग

499
Slider

नई दिल्ली- न्यूज टुडे नेटवर्क: सोचकर देखिए कि क्या आप अपने स्मार्टफोन के बिना रह सकते है। ऐसा आपको एक-दो हफ्ते नहीं, बल्कि पूरे एक साल तक करना होगा। इस दौरान स्मार्टफोन मांगकर भी नहीं छूना होगा। अगर आप इस चुनौती को स्वीकार करते हैं तो एक लाख डॉलर (करीब 71.82 लाख रुपये) का ईनाम जीत सकते हैं। सिर्फ कह देने भर से काम नहीं चलेगा, पूरे साल इस चुनौती पर खरा उतरना होगा। एक साल पूरा होने के बाद प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वाले शख्स का लाई-डिटेक्टर टेस्ट भी होगा। ये सब बाधाएं पूरी करने के बाद ईनाम मिलेगा।

Slider

365 दिन बिना स्मार्टफोन के रहना होगा

डेलीमेल ऑनलाइन की ओर से जारी की गई खबर के मुताबिक, एक निजी कंपनी विटामिनवॉटर की ओर से यह प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है। प्रतियोगिता के नियमों के तहत इसमें शामिल होने वाले प्रतिभागी को 365 दिन बिना स्मार्टफोन के रहना होगा। 8 जनवरी तक इस प्रतियोगिता में हिस्सा ले सकते हैं। हिस्सा लेने वाले शख्स को हैशटैगनोफोनफॉरएईयर या हैशटैगकॉन्टेस्ट के साथ ट्विटर या इंस्टाग्राम पर अपनी एक फोटो डालनी होगी। इसके साथ यह लिखना होगा कि वो एक स्मार्टफोन के बिना क्यों रहना चाहते हैं?

Shree Guru Ratna Kendra Haldwani

6 माह तक बिना फोन के रहने पर भी मिलेगा ईनाम

प्रतियोगी की मुश्किलों को समझते हुए कंपनी की ओर नोकिया का एक 3310 फोन भी दिया जाएगा। प्रतियोगी पूरी दुनिया से कहीं कट न जाएं, इस बात को ध्यान में रखते हुए कंपनी एक राहत भी दे रही है। एक खास बात और है कि प्रतियोगिता में भागीदारी करने के बाद अगर प्रतियोगी छह महीने भी पूरी सच्चाई के साथ स्मार्टफोन के बिना रह सकेगा तो उसे 10 हजार डॉलर (करीब 718.15 हजार रुपये) ईनाम मिलेगा। प्रतियोगिता थोड़ी मुश्किल है, लेकिन आपको स्मार्ट डिवाइस के बिना रहना सिखा देगा, जो कि आपकी जिंदगी में बड़ी राहत की चीज होगी। इससे आप न केवल कई शारीरिक बल्कि कई मानसिक बीमारियों से भी छुटकारा पा सकेंगे।

क्या कहना है प्रतिभागियों का..

इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वाले लोग सोशल मीडिया पर तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। एक ट्विटर यूजर ने लिखा, ‘मैं हैशटैगनोफोनफॉरएईयर हैशटैगकॉन्टेस्ट में हिस्सा लेने के लिए अपने स्मार्टफोन से बिल्कुल दूर रहूंगा। मैं समझता हूं, स्मार्टफोन सिर्फ समय की बर्बादी है। इससे मुझे अपने ग्रेजुएट फाइनल ईयर की पढ़ाई करने में भी काफी मदद मिलेगी।’ एक यूजर ने लिखा, ‘मैं सोशल मीडिया का इतना आदी हो गया हूं कि इससे मेरी शादी तक प्रभावित हो रही है। मैं अपने परिवार के साथ समय नहीं बिताता हूं। इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के बाद मैं अपने परिवार के साथ बिता पाऊंगा, अपनी शादी को बचा लूंगा।’ एक यूजर ने लिखा, ‘मैं अपनी पढ़ाई का कर्ज अदा करना चाहता हूं और क्रेडिट कार्ड के सारे बिल भरना चाहता हूं, ताकि मेरी अच्छी सी शादी हो सके और बाद में प्यारा सा बच्चा। इसलिए, मैं इस प्रतियोगिता में हिस्सा ले रहा हूं।’