inspace haldwani
Home उत्तराखंड हल्द्वानी- रामपुर रोड की यह जगह बनी डेंजर जोन, अब तक ले...

हल्द्वानी- रामपुर रोड की यह जगह बनी डेंजर जोन, अब तक ले चुकी हैं कई जानें

हल्द्वानी- न्यूज टुडे नेटवर्क- रामपुर रोड पर शनिवार की देर रात साईकिल पर सवार दो युवको को अज्ञात वाहन ने रौंद डाला। एक युवक की घटनास्थल पर ही मौत हो गई जबकि दूसरे ने अस्पताल में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। शनिवार की रात इन दोनों परिवारों के लिए काली रात साबित हुई। बताया जा रहा है कि पंचायत घर के पास जिस जगह पर यह हादसा हुआ है वहां पर अक्सर हादसे होते रहते है। उस स्थान पर कई लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। देर रात जीतपुर नेगी के रहने वाले प्रकाश चन्द्र और उसके साथी संजू ने भी इसी जगह अपनी जान गंवा दी। सबसे ज्यादा सडक़ हादसे रामपुर रोड में होते हैं। उनमें से अधिकांश हादसे पंचायत घर के पास हुए है। इसलिए अगर आप रामपुर रोड पर ड्राइव कर रहे है तो जरासंभल के अपना वाहन चलाये। इस रोड पर बढ़ते हादसों ने प्रशासन की चिंता बढ़ा दी है।

सुनीता पर टूटा दुखों का पहाड़, अब पति भी खोया

जीतपुर नेगी में रहने वाले प्रकाश चन्द्र का परिवार प्रकाश की मौत के बाद असहाय हो गया। देर रात सडक़ हादसे में प्रकाश की मौत के बाद उनकी पत्नी सुनीता पर दुखों का पहाड़ टूट गया। प्रकाश के मेहनत मजदूरी कर अपने परिवार को पालन-पोषण करता था। प्रकाश के चार बच्चे हैं। सबसे बड़ी लडक़ी 9वीं में पढ़ती है। बाकि सब छोटे-छोटे है। प्रकाश की मौत के बाद उसकी बीबी व बच्चों का रो-रोकर बुरा हाल है। बच्चे बार-बार पापा-पापा की रट लगाये बैठे है। सबसे छोटा बेटा अभी भी पापा के आने का इंतेजार कर रहा है। प्रकाश की मौत के बाद परिवार के भरण-पोषण की जिम्मेदारी सुनीता के ऊपर आ गई है। इससे पिछले साल सुनीता के ससुर का निधन हो गया था। उसके बाद सुनीता की मां भी चल बसी। मायके से भी आर्थिक स्थिति मजबूत न होने से सुनीता का रो-रोकर बुरा हाल है।

इसी जगह हुआ ससुर, जेठ और पति के साथ हादसा

सुनीता के परिवार की कहानी सडक़ हादसे से जुड़ी है। पहले सडक़ हादसे में जेठ को खोया। इसके बाद इसकी जगह उनके ससुर का भी एक्सीडेंट हुआ लेकिन वह बच गये लंबी बीमारी के बाद पिछले साल उनका भी निधन हो गया। अब सुनीता के पति प्रकाश का भी देर रात उसी जगह पर एक्सीडेंट हुआ जहां उसके भाई और पिता के साथ सडक़ हादसा हुआ था। सुनीता अपने ससुर, जेठ और पति को खो चुकी हैं। छह महीने पहले ही वह अपनी मां को भी खो चुकी है। ऐसे में सुनीता के परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। मजदूरी के अलावा उसके पास कोई दूसरा जरिया नहीं है।

Related News

हल्द्वानी- कुमाऊं कमिश्नर ने राजस्व वसूली का बनाया ये प्लान, अधिकारियों को दिये कड़े निर्देश

कुमाऊं कमिश्नर अरविन्द सिंह ह्यांकी ने मंगलवार को राजस्व विभाग के कार्यों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा की। इस दौरान कम राजस्व...

हल्द्वानी – यहां चल रहा था सट्टे का बाजार , सटोरिया एजेंट पुलिस की गिरफ्त में

हल्द्वानी। पुलिस ने एक सटोरिये को सट्टे की खाईबाड़ी करते हुए रंगे हाथों दबौच लिया। आरोपी के खिलाफ जुआ अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज...

हल्द्वानी- यहां दिन दहाड़े पार्लर संचालिका के साथ हुई ये बड़ी वारदात, मिली जान से मारने की धमकी

पार्लर संचालिका ने पति-पत्नी समेत अन्य लोगों पर उसके पार्लर में घुसकर तोड़फोड़ व धमकाने का आरोप लगाया है। पुलिस ने पीड़िता की तहरीर...

हल्द्वानी – इतनी सी बात और फोड़ दिया युवक का सर ,पड़े क्या है पूरा मामला

हल्द्वानी। मामूली से विवाद को लेकर यहां नवाबी रोड में दो भाईयों ने एक युवक पर लोहे की रॉड से हमला बोल दिया। इतना...

देहरादून- उत्तराखंड में आज 2 लोगो की हुई कोरोना से मौत, आकड़ा बढ़कर हुआ इतना

उत्तराखंड में आज 116 नये कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के साथ ही राज्य में कोरोना का आंकड़ा बढ़कर 95039 हो गया है। जबकि 2...

देहरादून- सीएम त्रिवेन्द्र ने लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ लिया ये एक्शन, होगी ये कार्रवाई

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मुख्य सचिव के साथ गढ़वाल मंडल आयुक्त कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। सीएम के निरीक्षण के दौरान कई कर्मचारी...