drishti haldwani

हल्द्वानी-अकेलपन से परेशान बुजुर्ग दंपति ने उठाया ये खौफनाक कदम, खबर सुन हर कोई रह गया सन्न

1368

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क- शहर में एक बुजुर्ग दंपित की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। जिसके बाद क्षेत्र में सनसनी मच गई। बताया जा रहा है कि बुजुर्ग महिला ने जहर खाकर जान दे दी तो पति ने भी अपने को आग लगाकर जीवनलीला समाप्त कर ली। दंपति सरकार विभाग से रिटायर्ड थे। इसकी जानकारी किसी ने पुलिस को दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों शवों को अपने कब्जे में ले लिया। जिसके बाद दोनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। बताया जा रहा है कि दोनों घर में अकेले थे। यह घटना क्षेत्र में आग की तरह फैल गई जिसके बाद उनके घर में देखने वाला का तांता लग गया। बताया जा रहा है कि दंपित लंबे समय से बीमार चल रहे थे। फिलहाल दोनों की मौत कैसे हुई यह तो पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल सकेगा। सीओ डीसी ढोंडियाल व एसओ नंदन सिंह रावत ने लोगों से मामले की जानकारी जुटाई।

iimt haldwani

बड़ा बेटा आईबी और छोटा है डॉक्टर

कुंवर कॉलोनी निवासी 72 वर्षीय नंदन परिहार सांख्यिकी विभाग व पत्नी 70 वर्षीय कमला परिहार शिक्षा विभाग से रिटायर्ड थे। बताया जा रहा है दंपित लंबे समय से बीमार था। देर रात पत्नी ने जहर खा लिया। सुबह जब पति नंदन परिहार ने उसे बिस्तर पर मृत हालत में देखा तो वह सदमे में आ गये। उन्होंने मंदिर घर में जाकर खुद को आग लगा ली। लोगों को कहना है कि गैस में आग लगाई। घर से धुआं उठता देखर पड़ोसियों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने पहुंचकर घर का दरवाजा तोड़ा और दोनों शवों को बाहर निकाला। बताया जा रहा है कि बुजुर्ग दंपति अकेलापन बर्दाश्त नहीं कर सका। जिससे उन्होंने ये आत्मघाती कदम उठाया। दंपति का बड़ा बेटा वीरेन्द्र परिहार हरिद्वार आईबी है और छोटा बेटा महेन्द्र परिहार पुणे में डॉक्टर है। आशंका जताई जा रही है कि महिला की मौत ओवरडोज दवाई लेने से हुई होगी। लोगों ने बताया कि सात माह पहले ही उन्होंने हल्द्वानी में मकान बनाया था। बुजुर्ग दंपति मूल रूप से भवाली के रहने वाले है।