drishti haldwani

पोस्ट ऑफिस ने निकाली ये बड़ी स्कीम, मिलेगा बैंकों से डबल रिटर्न , जो आपको कर देगा मालामाल…

85

नई दिल्ली-न्यूज टुडे नेटवर्क : सभी की चाह होती है कि वह जल्दी से जल्दी अपने निवेश को डबल करे, लेकिन ये कोई भी नहीं जानता है कि कैसे और कहां अच्छे रिटर्न (मुनाफा) मिलेंगे। ऐसे में देश भर में 1.5 लाख से अधिक डाकघरों के जरिए इस सेविंग स्कीम का फायदा उठाया जा सकता है। डाक की ऑफिशियल वेबसाइट- www.indiapost.gov.in के अनुसार, डाकघर सेविंग स्कीम में वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (SCSS), 15 वर्षीय पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF), नेशनल सेविंग स्कीम और सुकन्या समृद्धि स्कीम (SSA) में कम से कम 8 फीसद ब्याज दर के हिसाब से ग्रोथ मिलती है…

iimt haldwani

post-office

वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (SCSS)

ये सेविंग स्कीम वरिष्ठ नागरिकों के लिए है, जिसमें 60 वर्ष या उससे अधिक आयु के बाद अकाउंट खोला जा सकता है। इस स्कीम में अधिकतम 15 लाख रुपये तक राशि जमा की जा सकती है और प्रति वर्ष 8.7 फीसद का ब्याज मिलता है। इस अकाउंट में पैसा सिर्फ 1000 रुपये के गुणकों में जमा होना चाहिए। इस स्कीम को एक साल बाद करने पर 1.5 फीसद कटौती की जाएगी और 2 साल के बाद जमा करने पर 1 फीसद की कटौती की जाएगी।

15-वर्षीय पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF)

इस अकाउंट को 100 रुपये के साथ खोला जा सकता है, लेकिन एक वित्त वर्ष में न्यूनतम 500 रुपये और अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा कर सकते हैं। इस स्कीम में पैसा एक साथ या 12 किस्तों में जमा कर सकते हैं। इस स्कीम में 8 फीसद प्रति वर्ष ब्याज मिलता है। इस अकाउंट को 15 साल से पहले बंद नहीं किया जा सकता है। इस स्कीम को चालू करने के सातवें साल से प्रत्येक वर्ष पैसा निकाला जा सकता है और इससे मिलने वाला ब्याज पूरी तरह टैक्स फ्री होता है।

images (1)

नेशनल सेविंग स्कीम (NSC)

इस स्कीम का कार्यकाल 5 साल का होता है और इसमें 8 फीसद वर्षिक ब्याज मिलता है। इस स्कीम में जमा करने पर टैक्स में आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत छूट के लिए दावा कर सकते हैं। इसमें न्यूनतम 100 रुपये और अधिकतम निवेश करने की कोई सीमा नहीं है।

सुकन्या समृद्धि खाता (SSA)

इस अकाउंट को गर्ल चाइल्ड के लिए खोला जाता है। एक परिवार एक गर्ल चाइल्ड के नाम पर सिर्फ एक ही अकाउंट खोल सकता है और अधिकतम दो गर्ल चाइल्ड के नाम पर दो अलग-अलग अकाउंट खोले जा सकते हैं। इस अकाउंट में एक वित्त वर्ष में न्यूनतम 1000 और अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा किए जा सकते हैं। इसमें प्रति वर्ष 8.5 फीसद ब्याज मिलता है। लडक़ी की उम्र 21 साल होने के बाद अकाउंट बंद कर सकते हैं।