Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तराखंड कुम्भ को खास बनाते हैं ये चार धार्मिक स्थल, श्रद्धालुओं की संख्या...

कुम्भ को खास बनाते हैं ये चार धार्मिक स्थल, श्रद्धालुओं की संख्या सुन अचंभित रह जाएंगे आप

विजय भूषण बने ओमैक्स सोसायटी के निर्विरोध अध्यक्ष बने

रुद्रपुर। ओमेक्स रिवेरा वेलफेयर एसोसिएशन के चुनाव में शहर के प्रतिष्ठित व्यापारी विजय भूषण गर्ग निर्विरोध अध्यक्ष चुने गए । त हासिल की है। विजय...

सीएम ने बाजपुर के हजारों किसानों के चेहरों पर इस तरह ला दी मुस्कान

रुद्रपुर । ऊधमसिंह नगर जिले की तहसील बाजपुर क्षेत्र में हजारों एकड़ भूमि पर खरीद फरोख्त पर रोक लगाने के बाद आंदोलित किसानों के...

देहरादून- नहीं थम रही उत्तराखंड में कोरोना की रफ्तार, पढ़े आज का ताज़ा अपडेट

उत्तराखंड में कोरोना का कहर लगातार बड़ता जा रहा है। प्रदेश में कोरोना का आकड़ा 38007 पर पहुंच गया है। शुक्रवार को जारी स्वास्थ्य...

पिथौरागढ़- आपदा प्रभावितों को मिलेगा मुआवजा, पीड़ितों के चेहरे पर ऐसे लौटी मुस्कान

राज्य सरकार के साढ़े तीन वर्ष का कार्यकाल पूरा होने के बाद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पिथौरागढ़ में आपदा प्रभावितों को मकान की...

देहरादून- साढ़े तीन साल में त्रिवेन्द्र सरकार ने ऐसे किये 85 प्रतिशत वादे पूरेए पढिय़े कैसे किया स्वरोजगार पर फोकस

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने राज्य सरकार के साढ़े तीन वर्ष पूर्ण हो जाने बाद अपने 85 प्रतिशत वायदे पूरे किये है। मुख्मंत्री ने...
Uttarakhand Government

कुम्भ मेला भारत में हिन्दुओं द्वारा मुख्य धार्मिक पर्व के रूप में मनाया जाता है। जो दुनिया के सबसे बड़े शांतिपूर्ण समारोहों में से एक है। मेले को धार्मिक तीर्थयात्रियों की दुनिया में सबसे बड़ी मंडली भी कहा जाता है। मेला चार प्रमुख तीर्थ स्थलों हरिद्वार, नासिक, उज्जैन एवं इलाहाबाद में लगाया जाता है। मेले का आयोजन करीब 12 वर्ष में एक बार होता है। लेकिन हरिद्वार में यह मेला 3 वर्ष में एक बार लगता है। जिसमें हजारों की संख्या में लोग उपस्थित होते है।


Uttarakhand Government

kumbh fair news
कुम्भ मेले में दर्शकों की भीड़

Uttarakhand Government

जानकारी के अनुसार मेले को सबसे पहले शंकराचार्य ने लगाया था। कुम्भ मेला एक माह से लेकर करीब तीन महीने तक लगता है। और इसके लिए तीन तिथियां निर्धारित की गई है। तिथियों के अनुसार कई तीर्थ यात्रियों द्वारा मेले में भाग लिया जाता है। कुम्भ मेले में सबसे ज्यादा लोगों की भीड़ इलाहाबाद में देखने को मिलती है और उसके बाद हरिद्वार का नाम आता है।

Uttarakhand Government

यहां पर भी हजारों की संख्या में लोगों का जमावड़ा होता है। साधकों का मानना ​​है कि लोग कुम्भ के मेले में अपनी पिछली गलतियों के लिए इन नदियों में स्नान करके पापों की धुलाई करने भी आते है। वर्ष 2001 में कुंभ मेले में करीब 60 मिलियन हिंदू एकत्रित हुए थे। कुम्भ मेला विशेष तौर पर अमावस्या के दिन सबसे ज्यादा भीड़ को आकर्षित करता है।

Uttarakhand Government

Related News

विजय भूषण बने ओमैक्स सोसायटी के निर्विरोध अध्यक्ष बने

रुद्रपुर। ओमेक्स रिवेरा वेलफेयर एसोसिएशन के चुनाव में शहर के प्रतिष्ठित व्यापारी विजय भूषण गर्ग निर्विरोध अध्यक्ष चुने गए । त हासिल की है। विजय...

सीएम ने बाजपुर के हजारों किसानों के चेहरों पर इस तरह ला दी मुस्कान

रुद्रपुर । ऊधमसिंह नगर जिले की तहसील बाजपुर क्षेत्र में हजारों एकड़ भूमि पर खरीद फरोख्त पर रोक लगाने के बाद आंदोलित किसानों के...

देहरादून- नहीं थम रही उत्तराखंड में कोरोना की रफ्तार, पढ़े आज का ताज़ा अपडेट

उत्तराखंड में कोरोना का कहर लगातार बड़ता जा रहा है। प्रदेश में कोरोना का आकड़ा 38007 पर पहुंच गया है। शुक्रवार को जारी स्वास्थ्य...

पिथौरागढ़- आपदा प्रभावितों को मिलेगा मुआवजा, पीड़ितों के चेहरे पर ऐसे लौटी मुस्कान

राज्य सरकार के साढ़े तीन वर्ष का कार्यकाल पूरा होने के बाद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पिथौरागढ़ में आपदा प्रभावितों को मकान की...

देहरादून- साढ़े तीन साल में त्रिवेन्द्र सरकार ने ऐसे किये 85 प्रतिशत वादे पूरेए पढिय़े कैसे किया स्वरोजगार पर फोकस

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने राज्य सरकार के साढ़े तीन वर्ष पूर्ण हो जाने बाद अपने 85 प्रतिशत वायदे पूरे किये है। मुख्मंत्री ने...

उत्तराखंड- छात्रों और शिक्षकों के लिए काम की खबर, शिक्षा मंत्री ने किया ये ऐलान

कोविड-19 को देखते हुए केन्द्र सरकार के निर्देशों के बाद अब उत्तराखंड में एनसीईआरटी पाठ्यक्रम को प्रदेश सरकार 30 प्रतिशत कम करने जा रही...
Uttarakhand Government