काशीपुर-मतदान में यहां हुई बड़ी चूक से हंगामा, जिला निर्वाचन अधिकारी ने दिये आरओ के निलंबन के आदेश

Slider

काशीपुर- न्यूज टुडे नेटवर्क- काशीपुर में पार्षद पर चुनाव चिन्ह बदल जाने के काररण डेढ़ घंटा मतदान प्रभावित हो गया। हालांकि बाद में अधिकारियों से वार्ता के बाद मेयर पद के लिए मतदान जारी करने की घोषणा कर दी। जिसके बाद पार्षद प्रत्याशी भडक़ गये उन्होंने मेयर हो पार्षद का चुनाव एक साथ कराने की मांग की। इस बीच माहौल उग्र हो गया पुलिस बल ने उन्हे खदेड़ दिया। जिसके बाद पार्षद पद पर सोमवार को चुनाव कराने में सहमति बनी। इस दौरान पार्षद प्रत्याशियों ने चुनाव का बहिष्कार करने की घोषणा कर दी। भीड़ को उग्र होता देख सीओ राजेश भट्ट व कोतवाल चंचल शर्मा ने कमान संभाली। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर मतदान केन्द्र के पास किसी ने कोई अभ्रदता या फिर वोटरों को रोकने की कोशिश की तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी।

Slider

आखिर क्यों हुआ हंगामा

बताया जा रहा है कि वार्ड नंबर-31 के लिए उदयराज हिन्दू इंटर कॉलेज के प्रथम गेट में तीन बूथ बनाए गए हैं। सुबह मतदान शुरू तो करीब आधे घंटे हुई वोटिंग के बाद पता लगा कि बैलट पेपर पर पार्षद प्रत्याशी नजमी के चुनाव चिन्ह पंखा की जगह पार्षद प्रत्याशी विलाल का चुनाव चिन्ह सिलेंडर, जबकि विलाल के चुनाव चिन्ह की जगह नजमी का चुनाव चिन्ह छपा है। जिसके बाद पार्षद प्रत्याशियों ने हंगामा कर दिया। इस बीच मतदान रोक दिया गया। वही वार्ड 31 में मतदान स्थगित होने के बाद जिला निर्वाचन अधिकारी डा. नीरज खैरवाल ने आरओ जीएस धामी को निलंबित करने की संस्तुति की है। धामी पार्षद पद के लिए आरओ थे और वह मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी के पद पर कार्यरत हैं।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें