inspace haldwani
Home उत्तरप्रदेश नवजात बच्ची को किसी ने जन्म देकर फेंका, जिसे मिली उसने लड्डू...

नवजात बच्ची को किसी ने जन्म देकर फेंका, जिसे मिली उसने लड्डू बांटे और पहुंच गई पुलिस

न्यूज़ टुडे नेटवर्क, बरेली। जन्म के बाद ही नवजात बच्ची को किसी ने निष्ठुरता की सारी हदें पार कर दीं। कड़ाके की सर्दी में नंगे बदन सरसों के खेत में उसे फेंक दिया। मासूम घंटों तक जिंदगी और मौत के बीच जूझती रही। आखिरकार जिंदगी के आगे मौत को हारना पड़ा।

सिरौली के गांव हरदासपुर के राजमिस्त्री वीरेंद्र सोमवार शाम काम से घर लौट रहे थे। इसी दौरान उन्हें लघुशंका लगी। वह खेत के करीब जाकर लघुशंका करने लगे। इसी दौरान बच्ची के रोने की आवाज आई। वह खेत के अंदर घुसे तो उनकी नजर नवजात पर पड़ी। बच्ची नंगे बदन पौधों के बीच में पड़ी थी। ठंड में उसका बदन नीला पड़ने लगा था। यह नजारा देख विरेंद्र अंदर से हिल गए। आसपास कोई नजर नहीं आया तो वीरेंद्र ने बच्ची को उठाकर अपनी जैकेट में ढक लिया। उसे संभाल कर घर ले आए।

शायद उन्हें लघुशंका न लगती तो बच्ची की कुछ ही देर में जान भी जा सकती थी। इधर बच्ची के घर आते ही गांव में खबर फैल गई। नवजात बच्ची को देखने के लिए लोग वीरेंद्र के घर पहुंचने लगे। इस बीच किसी ने फोन पर पुलिस को सूचना दे दी जिसके बाद मंगलवार सुबह पुलिस मौके पर पहुंची और बच्ची को कब्जे में लेकर जिला अस्पताल में भर्ती करा दिया और बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष डॉक्टर डी एन शर्मा को भी सूचना दे दी।

डॉक्टर शर्मा ने पुलिस और जिला अस्पताल के स्टाफ को निर्देश दिया कि बच्ची के पूरी तरह स्वस्थ होने तक उसे अस्पताल में रखा जाए। बच्ची का वजन अभी 2 किलो है। अब उसकी हालत खतरे से बाहर है।

वीरेंद्र की पत्नी ने पिलाया बच्ची को अपना दूध

नवजात को उसकी सगी मां ने तो ठुकरा दिया मगर कुछ घंटों में ही वीरेंद्र और उसकी पत्नी कमलेश के रूप में नए माता-पिता उसे मिल गए थे। बच्ची भूख से तड़प रही थी। यह देख वीरेंद्र की पत्नी कमलेश ने उसे अपना दूध पिलाया। वीरेंद्र कमलेश का छोटा बेटा अभी डेढ़ साल का है। बाकी तीन बेटे और हैं लेकिन बेटी नहीं है। पुलिस के आने के बाद बच्ची की चाहत में दोनों जिला अस्पताल पहुंचे। उन्हें लगा कि बच्ची ठीक होने के बाद उन्हें मिल जाएगी लेकिन बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष डॉक्टर डीएन शर्मा ने बताया कि वीरेंद्र और कमलेश बच्ची को लेना चाहते हैं लेकिन बच्ची उन्हें नहीं दी जा सकती। कानूनी प्रक्रिया के तहत ही बच्ची को दिया जा सकता है।

Related News

उत्‍तर प्रदेश में सभी किसानों का बनेगा क्रेडिट कार्ड,  15 अप्रैल तक चलेगा महाअभियान

न्‍यूज टुडे नेटवर्क।  उत्‍तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किसानों को क्रेडिट कार्ड से जोड़ने के लिए एक बड़ी पहल की है। उत्तर...

बरेली: पंचायत चुनाव को लेकर संतोष सिंह ने जारी किये दिशा निर्देश, कार्यकर्ताओं से एकजुट होकर प्रत्‍याशी को जिताने का किया आह्वान

न्‍यूज टुडे नेटवर्क, बरेली। भारतीय जनता पार्टी के सिविल लाइन्स स्थित कार्यालय पर जिले के पदाधिकारियों की एक बैठक का आयोजन हुआ। इसमें बैठक...

टेस्टिंग कार्य पूरी क्षमता से संचालित करने के निर्देश, फोकस टेस्टिंग किए जाने पर बल

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने कोविड-19 से बचाव व उपचार की प्रभावी व्यवस्था को बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि संक्रमण की...

मुख्यमंत्री ने वरासत अभियान को पूरी सक्रियता से संचालित करने के निर्देश दिए

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने वरासत अभियान को पूरी सक्रियता से संचालित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि अभियान के...

Priyanka Chopra ने न्यूयॉर्क में खोला भारतीय रेस्टोरेंट

न्यूूूज टुु़ु़ु़ु़डे नेटवर्क। प्रेयंका चोपड़ा ने विदेश में रहने वाले अपने भारतीय फैंस को बड़ा तोहफा दिया है। अपने अभिनय के बाद उन्होंने भारतीय...

बरेली: 8 मार्च को नहीं आयेंगे सीएम योगी, केन्‍दीय मंत्री करेंगे ऐयरपोर्ट का उदघाटन  

न्‍यूज टुडे नेटवर्क, बरेली। 8 मार्च को बरेली ऐयरपोर्ट पर नहीं आयेंगे सीएम योगी। बरेली को पहली उड़ान की सौगात अन्‍तराष्‍ट्रीय महिला दिवस के...