PMS Group Venture haldwani

मोदी सरकार का बड़ा एलान, इस दीवाली पर नहीं बिकेगी सबसे महत्वपूर्ण चीज, जानिए क्या है वजह

285
Slider

नई दिल्ली-न्यूज टुडे नेटवर्क : दीपावली का त्योहार नजदीक आ चुका है, इस मौके पर हर साल करोड़ों रुपये के चायनीज पटाखे और अन्य प्रोडक्ट बिकते हैं। घरों को रोशनी करने वाली चायनीज लाइटों का भी बोलबाला रहता है। लेकिन इस साल देश में चौतरफा चायनीज चीजों का विरोध किया जा रहा है। दीवाली के लिए सजे बाजारों से चीन से आयातित देवी देवताओं की मूर्तियां यानी ‘गॉड फिगर’ गायब हैं और बाजार में भारतीय मूर्तिकारों द्वारा बनाई गई मूर्तियां छाई हुई हैं। साथ ही बाजार में आसानी से मिलने वाली इन चाईनीज लडियों ने हमारे दीपक की रोशनी को भी कम कर दिया है। हर साल लोगों को शपथ दिलाई जाती है कि इस दीवाली चाईनीज चीजों का बहिष्कार करना है, लेकिन उसका ज्यादा असर देखने को नहीं मिलता। पिछले कुछ साल से दिवाली पर देवी-देवताओं की मूर्तियों के बाजार पर ‘चीनी सामान’ का दबदबा था। ग्राहक भी बेहतर फिनिशिंग और कम दामों वाली चीन से आयातित मूर्तियों की मांग करते थे, लेकिन इस बार हवा का रख बदला दिखाई दे रहा है। ग्राहक चीनी माल के बजाय स्वदेशी उत्पादों को प्राथमिकता दे रहा है।

A one Industries Haldwani

Chinise-market

Slider

मेड इन चाइना को न, इलेक्ट्रिक सामान बाजार से गायब

हालांकि बीते कुछ सालों में लोग स्वदेशी चीजों के प्रति काफी जागरुक हुए हैं और चीनी सामान की बिक्री में पहले के मुकाबले गिरावट आई है जो कि हमारे लिए अच्छी खबर है। दरअसल इस दीवाली भारतीय बाजार में चाइनीज लाइटिंग और इलेक्ट्रिक चीजें कम ही दिखाई पड़ रही हैं। इसके अलावा सजावटी सामान की दुकानों से भी चाईनीज सामान गायब है। दुकानदार भी चाईनीज माल बेचने में ज्यादा दिलचस्पी नहीं दिखा रहे, उनका कहना है कि ग्राहक अब चाईनीज वस्तुएं खरीदने में पहले जैसी रुचि नहीं दिखा रहे। रिपोर्ट्स के मुताबिक इस बार चाईनीज माल बहुत कम मात्रा में हमारे देश में आया है जिससे चीन को काफी नुकसान हो रहा है और भारत में चीनी बाजार कुछ हद तक सिमटता हुआ प्रतित हो रहा है।

Diwali-Exclusive-Modi-

भारतीय बाजार में नहीं पहुंच रहा चाईनीज सामान

इस साल चाईनीज सामान के भारतीय बाजारों में नहीं दिखने का बड़ा कारण इम्पोर्ट टैरिफ में हुई दोगुनी बढ़ोतरी को बताया जा रहा है साथ ही कंसाइनमेंट क्लियरंस में देरी भी इसका एक मुख्य कारण हैं। इसके अलावा चाईनीज सामान का बहिष्कार करके देशी चीजों के प्रयोग करने जैसी मुहिम चलाकर लोगों को जागरूक किया जा रहा है ताकि चाईनीज माल को भारतीय बाजारों से साफ किया जा सके। ये बात तो सभी जानते हैं कि चीन की अर्थव्यवस्था में भारतीय बाजार का बहुत बड़ा रोल है ऐसे में अगर चीनी सामान की बिक्री में गिरावट आती है तो सीधे-सीधे चीन की अर्थव्यवस्था पर भी इसका व्यापक असर देखने को मिलेगा। कुल मिलाकर यह कहा जा सकता है कि यह दीवाली चीन के लिए कुछ ज्यादा फायदेमंद नहीं रहने वाली।

china2

चाईनीज सामान के दामों में हुई वृद्धि

बता दें कि इस बार चीनी सामान की कीमतों में भी बढ़ोत्तरी हुई है। क्योंकि मोदी सरकार ने इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ा दी है। सरकार द्वारा इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ाने के फैसले से चीन पर बड़ा असर पड़ा है। भारतीय सरकार का यह फैसला चीन के लिए बहुत बड़ा झटका हैं। काउंटरवेलिंग ड्यूटी, सेस और अन्य शुल्कों के साथ इम्पोर्ट कॉस्ट भी लगभग दोगुनी बढ़ा है इससे मेक इन इंडिया को भी बढ़ावा मिलेगा चीन पहले से ही अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा शुरू की गई ट्रेड वार से परेशान हैं जिसमें अमेरिका ने 200 अरब डॉलर के इंपोर्ट पर टैरिफ लगाने का ऐलान किया था।

shree guru ratn kendra haldwani