नई दिल्ली- आतंकी अज़हर मसूद ने स्वीकारा भारतीय सेना का बालाकोट हमला, बोला संगठन महफूस

Slider

नई दिल्ली- न्यूज टुडे नेटवर्क: बालाकोट के आतंकवादी शिविरों पर भारतीय वायुसेना के हमले को जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख अज़हर मसूद ने बुधवार को स्वीकार किया है। उसने कहा कि भारतीय सेना ने सुबह तड़के हवाई हमला किया। वार्ता के अनुसार, अजहर ने हालांकि पाकिस्तान को बचाने का प्रयास किया और कहा कि हवाई हमलों में उसके संगठन एवं परिवार को किसी भी तरह कोई क्षति नहीं पहुंची है। गौरतलब है कि वायुसेना के मिराज विमानों ने मंगलवार तड़के एलओसी पार करके जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकाने को नेस्तनाबूत कर दिया था।

Slider

एलओसी से करीब 50 किलोमीटर दूर बालाकोट शहर के पास एक पहाड़ी पर बने ठिकाने पर ‘आराम’ फरमा रहे 350 से ज्यादा आतंकियों को वायुसेना ने हमेशा के लिए मौत की नींद सुला दिया। इनमें 25 से ज्यादा जैश के बड़े कमांडर हैं। लेकिन भारतीय वायुसेना की इस कार्रवाई के बाद भी पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज आता नहीं दिख रहा है।

फिर से हमले की फिराक में थे आतंकी

विदेश सचिव विजय गोखले ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि इन आतंकी शिविरों को जैश सरगना मसूद अजहर का साला यूसूफ अजहर उर्फ उस्ताद गौरी चला रहा था। उन्होंने बताया कि आतंकी फिर से हमले की फिराक में थे, इसलिए भारत ने ऐहतियातन गैर सैन्य कार्रवाई की। उन्होंने कहा कि आतंकियों के ठिकाने घने जंगल में पहाड़ियों पर थे, जो नागरिक इलाकों से दूर थे।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें