इस साल 2019 में टेक्नोलॉजी बदल देगी आपकी जिंदगी 5जी से लेकर फोल्डेबल स्मार्टफोन तक आएंगे बाजार में

67

नई दिल्ली-न्यूज टुडे नेटवर्क । इस साल 2019 में टेक्नोलॉजी की दुनिया में बहुत कुछ खास होने वाला है। कई हसीन सपने हैं जो हकीकत में बदलने वाली है। इनमें सबसे पहला है 5जी इंटरनेट क्रांति। उम्मीद है कि जून 2019 तक अमेरिका में 5जी सेवा शुरू हो जाएगी। इसी साल साउथ कोरिया, जापान और चीन में भी 5जी सेवा शुरू होने की संभावना है। सभी देशों में इस प्रोजेक्ट पर बहुत तेजी से काम चल रहा है। इस मामले में अपना देश भी पीछे नहीं है, लेकिन इसके लिए 2022 तक का इंतजार करना होगा। 5 जी इतना तेज होगा कि बफरिंग शब्द भूल जाएंगे. नेटवर्क गायब होना और कॉल ड्रॉप जैसी समस्या तो बिल्कुल भी नहीं होगी. आपको बता दें, 5जी के लांच होने से पहले ही कई मोबाइल कंपनियां 2019 में जो स्मार्टफोन लांच कर रही हैं, उनमें इसकी सुविधा दे रही हैं।

5g_phone

5जी की शुरुआत

उम्मीद है कि इस साल जून में 5जी इंटरनेट सेवा अमेरिका में शुरू हो जाएगी। इसके अलावा चीन, जापान और दक्षिण कोरिया में भी 2019 के अंत तक 5जी इंटरनेट सर्विस शुरू होगी। दुनिया भर के सभी देश 5जी इंटरनेट पर तेजी से काम कर रहे हैं। हालांकि, भारत में 5जी इंटरनेट सर्विस शुरू होने में 2-3 साल का वक्त लग सकता है। 5जी इंटरनेट तकनीक और सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में बड़े बदलाव लेकर आएगा। 5जी के आने से कॉल ड्राप, नेटवर्क गायब होने और वीडियो बफरिंग जैसी बातें किस्से-कहानियों में सिमटकर रह जाएंगी। मौजूदा 4त्र नेटवर्क से 100 गुना तेज 5जी इंटरनेट के जरिए बड़ी-बड़ी फाइलें भी आसानी से ट्रांसफर की जा सकेंगी।

फोल्ड होने वाला स्मार्टफोन

2019 में टेक्नोलॉजी की दुनिया में फोल्डेबल स्मार्टफोन का भी इंतजार है। इस स्मार्टफोन का बेसब्री से इंतजार किया जा रहा है। इसे अपनी सुविधा और जरूरत के मुताबिक, फोल्ड कर सकते हैं। सैमसंग फोल्डेबल फोन की झलक पिछले साल दिखा चुका है। सबसे बड़ी खासियत यह होगी कि जरूरत के समय इसका इस्तेमाल टेबलेट और बड़ी स्क्रीन की तरह किया जा सकेगा और यह इतना लचीला है कि फोल्ड कर इसे जेब में रखा जा सकता है।

Samsung

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस

पिछले कुछ सालों से दुनिया की सबसे बड़ी टेक कंपनियां आटिफिशियल इंटेलिजेंस पर पानी की तरह पैसा बहा रही हैं। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आपके स्मार्टफोन से लेकर एक प्लेन तक हर जगह इस्तेमाल हो रहा है। इस साल यह तकनीक नया रूप लेगी। अभी तक माना जाता रहा है कि मशीनी इंटेलिजेंस के इस्तेमाल से रोजगार कम हो रहे हैं। लेकिन, हाल ही में आई एक रिपोर्ट पर गौर करें तो 2020 तक मशीनी इंटेलिजेंस के कारा 2.3 करोड़ से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलेगा।

भारत में इंटरनेट क्रांति की तैयारी

दिसंबर 2018 में इसरो ने जीसैट-77 सैटेलाइट लांच कर भारत में इंटरनेट की स्पीड बढ़ाने की शुरूआत कर दी है। इसरो इस साल 4 नए सैटेलाइट लांच करेगा। यह प्रोजेक्ट अगर सफल हुआ तो भारत में इंटरनेट की रफ्तार कई दूसरे देशों से भी ज्यादा हो जाएगी।

e237

डायरी की तरह मुड़ने वाला सैमसंग का यह अनोखा फोन

सैमसंग कंपनी आने वाली 20 फरवरी को सैन फ्रांसिस्को में एक बड़े ईवेंट का आयोजन करने जा रही है। चर्चा है कि इस दिन एक ओर जहां गैलेक्सी एस10 सीरीज़ के पर्दा उठाया जाएगा वहीं साथ ही सैमसंग अपना बहुप्रतीक्षित डिवाईस फोल्डेबल स्मार्टफोन भी दुनिया के सामने पेश कर सकती है। सैमसंग ने हालांकि अभी तक अपने फोल्डेबल स्मार्टफोन के लॉन्च को लेकर कोई जानकारी नहीं दी है लेकिन 20 फरवरी वाले ईवेंट से पहले ही कंपनी का यह अनूठा फोल्डेबल डिवाईस चीन की सरकारी वेबसाइट पर देखा गया है। इस लिस्टिंग ने सैमसंग के फोल्डेबल फोन के लॉन्च की चर्चा को और भी पुख्ता कर दिया है।

mobil6

साइबर सुरक्षा पर रहेगा जोर

2018 में जहां फेसबुक समेत कई बड़ी कंपनियां अपने यूजर्स का डाटा लीक करने के कारण सुर्खियों में रहीं, वही अब नया साल साइबर सुरक्षा के नाम रहने की उम्मीद है। दरअसल, तकनीकी विशेषज्ञों का मानना है कि आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस का प्रभाव जैसे-जैसे बढ़ेगा, वैसे-वैसे साइबर सुरक्षा का खतरा भी बढऩे लगेगा। इससे निपटने के लिए बड़ी कंपनियां मोटा पैसा खर्च कर अपनी वेबसाइटों व सर्वरों की सुरक्षा बढ़ाएगी।