सिडनी-इन दो भारतीय खिलाड़ियों ने रचा इतिहास, ऐसा पहले कभी नहीं हुआ भारतीय क्रिकेट में

0
627

सिडनी-न्यूज टुडे नेटवर्क- भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली जा रही चार टेस्ट मैचों की सीरीज का अंतिम टेस्ट मैच में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। पिच पर घास होने के बाद भी विराट ने पिच को बल्लेबाजी के लिए बढिय़ा माना और पहले बल्लेबाजी को चुना। इस टेस्ट मैच के पहले दिन दो भारतीय खिलाडिय़ों ने इतिहास रच दिया। इस टेस्ट मैच में ओपनिंग करने के लिए मयंक अग्रवाल के साथ लोकेश राहुल उतरे। इन दोनों के बल्लेबाजी के लिए मैदान पर उतरते ही 1932 से चले आ रहे भारतीय क्रिकेट के इतिहास में कुछ ऐसा हो गया, जो पहले कभी नहीं हुआ था।

इस मैच में हुआ गुलाबी रंग का इस्तेमाल

वही इस मैच से जुटाई गई राशि को ग्लेन मैक्ग्रा फाउंडेशन को दी जानी है जो स्तन कैंसर पीडि़तों की मदद करती है। हर साल इस मैदान पर होने वाले पहले मैच में मैदान में ज्यादा से ज्यादा गुलाबी रंग का इस्तेमाल होता है। इस बार मैच में बाउंड्री, स्टंपस सभी गुलाबी रंग के है। विराट कोहली ने भी इस अपने खास अंदाज में पिंक टेस्ट सेलिब्रेट किया और वे भी मैदान कुछ गुलाबी चीजों के साथ आए। बता दें कि ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ग्लेन मैक्ग्रा की पत्नी जेन मैक्ग्रा की मौत स्तन कैंसर की वजह से हुई थी। इस टेस्ट मैच से एकत्र की गई राशि ग्लेन मैक्ग्रा फाउंडेशन को दी जायेगी।

कर्नाटक के दो बल्लेबाजों ने की ओपनिंग

गौरतलब है कि मयंक अग्रवाल और लोकेश राहुल सिडनी टेस्ट मैच में ओपनिंग के लिए उतरे तो 87 साल के भारतीय क्रिकेट इतिहास में एक नया अध्याय जुड़ गया। मयंक अग्रवाल और लोकेश राहुल ये दोनों ही खिलाड़ी कर्नाटक से घरेलू क्रिकेट खेलते हैं। सिडनी में जैसे ही ये दोनों पारी की शुरुआत करने उतरे तो ये भारतीय टेस्ट क्रिकेट इतिहास में पहला मौका बन गया, जब कर्नाटक से खेलने वाले दो ओपनरों ने टीम इंडिया के लिए पारी का आगाज किया।