iimt haldwani

अब सूरज की रोशनी से ही शुद्ध हो जाएगा पानी , जानिए कैसे

110

नई दिल्ली न्यूज टुडे नेटवर्क : बर्लिन वैज्ञानिकों ने एक सरल तरीका खोजा है, जिसकी बदौलत सूरज की रोशनी का इस्तेमाल करते हुए पानी में मौजूद प्रदूषकों को हटाया जा सकता है। जर्मनी में मार्टिन लूथर विश्वविद्यालय एमएलयूी हेले विटेनबर्ग के शोध कर्मियों ने घुले हुए प्रदूषकों को हटाने के लिए पानी में आसानी से गतिशील इलेक्ट्रॉन्स यानि हाइड्रेटेड इलेक्ट्रॉन्स का उपयोग किया।

amarpali haldwani

water5

इलेक्ट्रॉन काफी प्रतिक्रियाशील : मार्टिन

एमएलयू में प्रोफेसर मार्टिन गोएज ने बताया कि ये इलेक्ट्रॉन काफी प्रतिक्रियाशील हैं और प्रतिक्रिया के वास्ते इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। ये सख्त प्रदूषकों को भी तोडऩे में सक्षम हैं। इस कार्य के लिए इलेक्ट्रॉन को आणविक यौगिकों से छोडऩा पड़ता है, जहां इन्हें पूरी तरह से बंद रखा जाता है। अब तक ऐसे इलेक्ट्रॉन को पैदा करना बहुत जटिल और खर्चीला है।

water2

शोधकर्मियों ने एक नई प्रक्रिया विकसित की है, जिसमें ऊर्जा के एकमात्र स्नेत के रुप में ग्रीन लाइट एमिंटिग डायोड की जरुरत होती है। वांछित प्रतिक्रिया कराने के लिए उत्प्ररेक के तौर पर विटामिन सी और धातु मिश्रण का इस्तेमाल किया जाता है। नई प्रक्रिया की आगे जांच से पता चला कि हाइड्रेटेड इलेक्ट्रॉन पैदा करने का यह सक्षम तरीका है और साथ ही इसके और भी उपयोग हो सकते हैं। शोधकर्मियों ने नये तरीके का इस्तमाल प्रदूषित पानी पर किया। छोटे सैंपल में इस विधि से पानी के प्रदूषकों को हटाने में सहायता मिली।