PMS Group Venture haldwani

हल्द्वानी-सुमित की अगुवाई में कांग्रेस हुई ताकतवर, भाजपा के बाद अब बसपा को दिया झटका

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क- आज कांग्रेस के राजपुरा में हुए जनसंपर्क अभियान में बसपा को बड़ा झटका लग है। राजपुरा से बसपा के जिला प्रभारी नेता अनिल कनौजिया और नगर प्रभारी सतेन्द्र सचिन समेत दर्जनों समर्थकों ने कांग्रेस की सदस्यता ले ली। जिसका बाद कांग्रेस का कुनबा और बढ़ गया। कांग्रेस ने इससे पहले भाजपा के छह बड़े नेताओं को अपनी पार्टी में शामिल कर चुकी है। आज बसपा पर भी सेंधमारी कर बसपा के नेता अनिल कनौजिया को पार्टी में शामिल कर लिया। इस मौके पर कार्यकर्ताओं ने कनौजिया का स्वागत किया। नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश और मेयर पद प्रत्याशी सुमित हृदयेश ने कनौजिया को कांग्रेस की शपथ दिलाई। इस मौके पर हजारों समर्थकों की भीड़ उमड़ पड़ी। राजपुरा में कांग्रेस को मजबूत स्थिति मिल गई।

डबल इंजन की सरकार ने विकास कार्य किये ठप-सुमित

इससे पहले कांग्रेस मेयर प्रत्याशी सुमित हृदयेश ने भाजपा पर हमला करते हुए कहा कि भाजपा की डबल इंजन ने विकास को अवरूद्ध किया है। उन्होंने सीवर लाइनों के अलावा कई विकास कार्यों का लोगों को आश्वासन दिया। सुमित ने नगर निगम में बेहतर सुविधाओं के लिए लोगों से अपने पक्ष मेें वोट करने की अपील की। उन्होंने कहा कि जब से डबल इंजन की सरकार आयी है प्रदेश में विकास के सारे कार्य रूक गये है। आज तेल के दाम आसमान छूं रहे है। महंगाई ने लोगों की कमर तोड़ के रख दी है।

दलित नहीं दलालों की पार्टी बनी बसपा- कनौजिया

बसपा से कांग्रेस में शामिल हुए जिला प्रभारी अनिल कनौजिया ने कहा कि बसपा दलितों की नहीं दलालों की पार्टी हो गई है। उत्तराखंड में इस पार्टी में कार्यकर्ताओं की सुनने वाला कोई नहीं है। उन्होंने कहा कि वह पिछले 20 साल से बसपा की सेवा कर रहे थे। लेकिन लंबे समय से कोई कार्यकर्ताओं की तरफ ध्यान नहीं दे रहा है। उत्तराखंड में बसपा नेतृत्व विहीन पार्टी हो चुकी है। कनौजिया ने पिछली बार राजपुरा से पार्षद पद का चुनाव लड़ा था। पाटी्र्र की बेरूखी से उन्होंने आज कांग्रेस का हाथ थाम लिया। उनके साथ नगर प्रभारी सतेन्द्र सचिन समेत दर्जनों बसपा कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस की सदस्यता ली।

(कोरोना वायरस)उत्तराखंड के पहले ट्रेनी IFS अफसर जिन्होंने मौत को मात दी, देखिये पूरी कहानी