काशीपुर-ऐसेे अपनी शारीरिक इच्छा की पूर्ति करती थी ये महिला, नाबालिग से बुझा रही थी हवस की प्यास

Slider

काशीपुर-न्यूज टुडे नेटवर्क- हर दिन नाबालिगों से दुराचार का मामला सामने आ रहे है। वही कई दुराचार के बाद कई युवतियों को मसूमों की हत्या कर दी जाती है। लेकिन इससे उलट एक मामला काशीपुर में सामने आया। जहा एक महिला ने अपनी शारीरिक जरूरतों को पूरा करने के लिए एक नाबालिग का दस माह तक शोषण किया। साथ ही किसी को बताने पर समाज में बदनामी करने की धमकी भी दे डाली और नाबालिक से फरमाइस भी पूरी करने लिए चोरियां भी करवा दी। नाबालिग किशोर इनता दबाव में था कि घर से रुपये व जेवरात चुराकत आरोपित को देता रहा। परिजनों को इस बात की भनक लगी तो उन्होंने पुलिस से शिकायत की पर कुछ न होता देख कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। महिला कोई और नहीं उनकी बेटी की जेठानी थी। कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

Slider

दस माह से बनाये थे नाबालिग से नाजायज संबंध

मोहल्ला ओझान निवासी एक व्यक्ति ने कोर्ट में प्रार्थना पत्र देते कहा कि उसने अपनी पुत्री की शादी सात वर्ष पहले गुरुनानक कॉलोनी निवासी युवक से की थी। उनका नाबालिग पुत्र बहन के यहां जाता था। इस बीच उनकी पुत्री की जेठानी ने उनके नाबालिग पुत्र से करीब 10 माह से संबंध बना लिये। वह आये दिन उससे अपनी शारीरिक इच्छाओं की पूर्ति करती थी। इसके बाद महिला ने नाबालिग को अपनी फरमाइश पूरी करने के लिए भी मोहरा बना लिया। उसकी डिमांड पूरी नहीं की तो वह समाज में उसे बदनाम कर देगी। डर की वजह से पुत्र घर से रुपये और कीमती जेवरात लाकर बेटी की जेठानी को देता रहा। जिसके बाद तहरीर पुलिस को सौंपने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई। वादी द्वारा बेटे के नाबालिग होने के प्रमाण में आधार कार्ड प्रस्तुत किया गया। विशेष न्यायाधीश पाक्सो की अदालत ने प्रार्थना.पत्र स्वीकार कर कोतवाली पुलिस को केस दर्ज कर मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें