Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तरप्रदेश Strict action: जेलों में मोबाइल फोन व इंटरनेट इस्तेमाल कर रहे बंदियों...

Strict action: जेलों में मोबाइल फोन व इंटरनेट इस्तेमाल कर रहे बंदियों को दी जाएगी यह सजा

जानिए बिग बॉस 14 में क्या शो का हिस्सा बनेंगी राधे मां, नये प्रोमो में आई नजर

बिग बॉस (Bigg Boss) आने में अब कुछ ही दिन बाकी हैं। इसी बीच शो मेकर्स ओपनिंग एपिसोड का प्रोमो वीडियो (Promo Video) जारी...

UPSC Prelims 2020: परीक्षा टालने की याचिका सुप्रीम कोर्ट ने की खारिज, निर्धारित दिन ही होगी यूपीएससी सिविल सेवा की प्रारंभिक परीक्षा

यूपीएससी सिविल सर्विस प्रीलिम्स परीक्षा (UPSC Civil Service Prelims Exam) चार अक्टूबर को ही आयोजित की जाएगी। सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने चार अक्टूबर...

Bareilly: CM योगी ने बरेली को दिया यह तोहफा, कोरोना पर काबू पाने में मिलेगी मदद

आज का दिन बरेली वासियों के लिए ऐतिहासिक दिन है। आज सीएम योगी आदित्यनाथ ने बरेली में बने कोविड हॉस्पिटल (covid-19 hospital) का उद्घाटन...

COVID-19: प्रदेश में पिछले 24 घंटों में सामने आए संक्रमण के इतने नए केस, रिकवरी रेट हुआ 85.34 प्रतिशत

उत्तर प्रदेश में कोरोना (Corona) का कहर बढ़ने लगा है। पिछले 24 घंटों में कोरोना के 4,069 नए मरीज (New Patient) सामने आए हैं...

एनसीबी ने हाई कोर्ट में दाखिल किया एफिडेविट, रिया चक्रवर्ती को लेकर किया ये बड़ा खुलासा

रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) और उनके भाई शोविक चक्रवर्ती की जमानत याचिका का विरोध करते हुए नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) द्वारा दाखिल एफिडेविट में...

जेलों में मोबाइल फोन एवं इंटररनेट (mobile phone and internet) का इस्तेमाल करने वाले बंदियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गलत पहचान के साथ जेलों में प्रवेश करने वाले लोगों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई (strict action) करने को कहा है। इसके लिए जेल अधिनियम में जरूरी संशोधन कर दंड को और अधिक कठोर बनाने के प्रस्ताव को कैबिनेट (cabinet) ने पहले ही मंजूरी दे दी है।

अपर मुख्य सचिव गृह एवं जेल अवनीश कुमार अवस्थी ने कहा कि जेलों में निरुद्ध बंदियों ओर से की जाने वाली आपराधिक गतिविधियों (Criminal tendencies) को नियंत्रित करने के लिए यह फैसला लिया गया है। इसके बाद यदि कोई बंदी जेल परिसर के अंदर अथवा उसके बाहर कोई अपराध करने के प्रयास या षड़यंत्र रचने के लिए मोबाइल का प्रयोग करते हुए पाया जाता है। दोष सिद्ध होने पर उसे 3 से 5 साल तक की जेल अथवा 20 हजार से 50 हजार रुपये तक का जुर्माना या दोनों सजा से दंडित किया जा सकता है।

Related News

जानिए बिग बॉस 14 में क्या शो का हिस्सा बनेंगी राधे मां, नये प्रोमो में आई नजर

बिग बॉस (Bigg Boss) आने में अब कुछ ही दिन बाकी हैं। इसी बीच शो मेकर्स ओपनिंग एपिसोड का प्रोमो वीडियो (Promo Video) जारी...

UPSC Prelims 2020: परीक्षा टालने की याचिका सुप्रीम कोर्ट ने की खारिज, निर्धारित दिन ही होगी यूपीएससी सिविल सेवा की प्रारंभिक परीक्षा

यूपीएससी सिविल सर्विस प्रीलिम्स परीक्षा (UPSC Civil Service Prelims Exam) चार अक्टूबर को ही आयोजित की जाएगी। सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने चार अक्टूबर...

Bareilly: CM योगी ने बरेली को दिया यह तोहफा, कोरोना पर काबू पाने में मिलेगी मदद

आज का दिन बरेली वासियों के लिए ऐतिहासिक दिन है। आज सीएम योगी आदित्यनाथ ने बरेली में बने कोविड हॉस्पिटल (covid-19 hospital) का उद्घाटन...

COVID-19: प्रदेश में पिछले 24 घंटों में सामने आए संक्रमण के इतने नए केस, रिकवरी रेट हुआ 85.34 प्रतिशत

उत्तर प्रदेश में कोरोना (Corona) का कहर बढ़ने लगा है। पिछले 24 घंटों में कोरोना के 4,069 नए मरीज (New Patient) सामने आए हैं...

एनसीबी ने हाई कोर्ट में दाखिल किया एफिडेविट, रिया चक्रवर्ती को लेकर किया ये बड़ा खुलासा

रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) और उनके भाई शोविक चक्रवर्ती की जमानत याचिका का विरोध करते हुए नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) द्वारा दाखिल एफिडेविट में...

Unlock-5 Guidelines: केंद्रीय गृह मंत्रालय अनलॉक-5 में दे सकता है इन चीजों में छूट

अनलॉक 5 की गाइडलाइंस में केंद्रीय गृह मंत्रालय (Union Ministry of Home Affairs) रेलवे थोड़ी दूरी की ट्रेनों को चलाने की अनुमति दे सकता...