iimt haldwani

श्रीनगर-पुलवामा में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में सेना के एक मेजर समेत 4 जवान शहीद, सर्च ऑपरेशन जारी

431

श्रीनगर-न्यूज टुडे नेटवर्क-पुलवामा हमले के बाद देश के लिए चार जवानों ने अपना बलिदान दे दिया। आज सुबह उनके शहादत की खबर आयी है। बताया जा रहा है पुलवामा के पिंगलीना इलाके में सुरक्षाबलों को आतंकियों के एक घर में छिपे होने के सूचना मिली थी। जिसके बाद सेना की 55 राष्ट्रीय राइफल्स, जम्मू कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ की 182/183 बटालियन की ज्वाइंट टीम मोर्चा संभालते हुए इस एनकाउंटर को अंजाम दिया। जिस जगह आज ये मुठभेड़ हुई वह सीआरपीएफ हमले वाले स्थान से 10-1१ किलोमीटर की दूरी पर है। बताया जा रहा है कि सुरक्षाबलों द्वारा खुद को घिरा देख आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। इस दौरान सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए फायरिंग की। काफी देर तक हुई फायरिंग में सेना के एक मेजर, एक हेड कॉन्सटेबल और दो सिपाहियों के शहीद होने की खबर है।

amarpali haldwani

अभी भी एनकाउंटर जारी

बताया जा रहा है यहां 2-3 आतंकी छिपे हुए है। इस घर में छिपने वाले आतंकियों में सीआरपीएफ हमले को अंजाम देना वाले जैश आतंकी आदिल डार से जुड़े हुए हैं। शहीद होने वाले जवानों में मेजर डीएस डोंडियाल, हेड कॉन्सटेबल सेवा राम, सिपाही अजय कुमार और सिपाही हरी सिंह है। वहीं इस हमले में बुरी तरह घायल होने वाले सेना के जवान सिपाही गुलजार मोहम्मद को श्रीनगर के बदामीबाग इलाके स्थित सेना के 92 बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया है। गौरतलब है कि 14 फरवरी को जैश.ए.मोहम्मद के आतंकियों ने पुलवामा के अवंतिपोरा इलाके में सीआरपीएफ के काफिले पर आत्मघाती हमला किया था। इस हमले में अर्धसैनिक बल के 40 जवान शहीद हो गए थे जबकि कई जवान घायल हुए थे। हमले के बाद पूरे देश में रोष फैल गया और हर तरफ से आतंक और पाकिस्तान के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का मांग उठने लगी।