…तो इसलिए मुस्लिम धर्म में सुअर का मांस है वर्जित, वजह जानकर खा जाओगे चक्कर

0
146

नई दिल्ली-न्यूज टुडे नेटवर्क : यह दुनिया विश्वास और आस्था पर टिकी हुई है। दुनिया के सभी धर्म अपने भगवान पर या अपने धर्म ग्रंथ पर आस्था रखते है। भारत में कई धर्म के लोग निवास करते है सभी धर्मों के अपने कुछ नियम व शर्ते है। आज हम बात करते है मुस्लिम धर्म की शायद आप जानते होंगे की मुस्लिम धर्म के लोग सूअर का मांस नहीं खाते है। इस्लाम के अनुसार सुअर सबसे घिनौना जानवर है जिसको अल्लाह ने सिर्फ सफाई करने के लिए पैदा किया है। इसके पीछे क्या कारण है आइये जानते है।

pochemu-

कुरान के अनुसार

इस्लाम धर्म के सबसे पवित्र और मुख्य ग्रन्थ कुरान पाक के मुताबिक स्पष्ट रूप से कहा गया है की इस्लाम धर्म में ऐसे किसी भी जानवर का सेवन करना वर्जित है जो हलाल और जिंबा न किया गया हो।

इन्हें खाना हराम है

आप शायद इस बात को जानते होंगे की कुरान पाक के अनुसार किसी भी जानवर का मांस खाना जो किसी बिमारी या दुर्घटना में मर गया हो हराम माना जाता है।

muslim2

वैज्ञानिको के अनुसार

वैज्ञानिको के शोध के अनुसार सूअर का मांस खाने से व्यक्ति को 72 प्रकार की बीमारियाँ हो सकती है इस बात की जानकारी विज्ञान ने अभी दी है किन्तु इसे 1400 वर्ष पूर्व ही कुरान पाक में बता दिया गया था।

मस्तिष्क को हानि

इस्लामिक ग्रन्थ कुरआन में सूअर के मांस को खाना हराम माना जाता है वैज्ञानिको के अनुसार सूअर के मांस में टाईनिया सोलियम नाम का बैक्टीरिया पाया जाता है जो व्यक्ति के मस्तिष्क को अपना शिकार बनाता है और इससे दिमागी रोग उत्पन्न होते है।

pig5

इन अंगों को हानि

जिस स्थान पर सूअर को पाला जाता है उस स्थान पर कई प्रकार के जीवाणु पैदा हो जाते है यदि यह जीवाणु व्यक्ति की आँखों में चले जाते है तो इससे आखों की रोशनी जाने का खतरा हो सकता है तथा यदि ये आपके पेट में पहुँच जाते है तो कई प्रकार की बीमारियाँ उत्पन्न हो जाती है।

सुअर का नाम तक नहीं लेते मुस्लिम

दुनिया का सबसे गंदा और निर्लज्ज प्राणी सुअर है। वह हमेशा कीचड़ और गंदगी में ही पड़ा रहता है। कुरान में साफ- साफ लिखा गया है कि मुसलमानों को गन्दगी से बहुत दूर रहना चाहिए।
इस्लाम कहता है कि मल-मूत्र या किसी भी प्रकार की गन्दगी कपड़ों पर या बदन पर लग गया तो मुसलमान नमाज नहीं पढ़ सकता और ना ही कुरान शरीफ पढ़ सकता है जब तक वो उस गन्दगी को साफ ना कर दे। इसी कारण से दुनिया के सबसे गंदा प्राणी सुअर को खाना इस्लाम में वर्जित है। सुअर खाना तो दूर कट्टर मुसलिम उसका नाम तक नहीं ले सकता।