SMART CITY PROJECT: सड़क पर चलते-चलते लोग जान पाएगें बरेली का इतिहास

बरेली: स्मार्ट सिटी योजना के तहत बरेली की सड़कों पर हेरिटेज वॉक (Heritage walk) तैयार किया जाएगा। सड़क के दोनों ओर साइनेज (Signage) लगाए जाएंगे। जिस पर बरेली के गौरवशाली इतिहास, कला और साहित्य को प्रदर्शित किया जाएगा। जिससे लोगों को सड़क पर चलते-चलते बरेली के इतिहास (History) और कला-साहित्य की जानकारी मिल पाएंगी।
smart cityस्मार्ट सिटी योजना के तहत बरेली के गांधी उद्यान, रामपुर गार्डन, आजम नगर, सिकलापुर, फालतून गंज और नौ महला समेत छ: वार्डों को चुना गया है। इन वार्डों की सड़को को भी स्मार्ट बनाया जाएगा। पश्‍चिमी विकसित देशों (Western Developed Countries) की तरह बरेली के इतिहास, कला और साहित्य को साइंस और पेंटिंग (Science and Painting) के जरिए प्रदर्शित किया जाएगा।

1857 के क्रांति में भाग लेने वाले बरेली के क्रांतिकारियों के बलिदान को भी दिखाया जाएगा। आजादी की जंग में क्रांतिकारी साहित्य लिखने वाली इस्लामिया कॉलेज की हेडमिस्ट्रेस र्इस्मत चुगताई की कहानी सिविल लाइंस की सड़कें बताती हुई नजर आएंगे। बरेली को खास पहचान दिलाने वाले राधेश्याम कथावाचक तथा उनकी शैली में लिखी गई रामायण कभी जिक्र किया जाएगा। मशहूर (Famous) गीतकार किशन सरोज के गीत, साहित्यकार वीरेन डंगवाल और निरंकार देव सेवक का साहित्य साइनेज पर दर्शाया जाएगा।
smart cityसाइनेज पर बरेली के गौरवशाली इतिहास का होगा जिक्र
कमिश्नर रवि प्रसाद ने बताया कि स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत एबीडी एरिया में हेरिटेज वॉक विकसित किया जाएगा। साइनेज के जरिए बरेली के गौरवशाली इतिहास का जिक्र किया जाएगा। इसके लिए इतिहासकारों की मदद भी ली जा रही है। इस प्रोजेक्ट पर काम इसी महीने शुरू हो जाएगा।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें