PMS Group Venture haldwani

रुद्रपुर- ढाई साल पहले अगवा हुआ था बच्चा, अब इस हाल में देख पुलिस भी रह गई दंग

रुद्रपुर-रुद्रपुर में एक बच्ची का अगवा करने का मामला सामने आया। कई बार बच्चों को बदमाश अगवा कर लेते है या फिर चोरी करके बेच देते है। लेकिन ढाई साल बाद किसी मासूम का सकुशल मिल जाना रुद्रपुर में पहला मामला है। रुद्रपुर पुलिस के हाथ बड़ी सफलता लगी। विगत ढाई साल पहले ट्रांजिट कैंप से दो भाई-बहनों के अगवा करने का मामला सामने ाअया। बच्ची को हरिद्वार बेचा गया लेकिन पुलिस ने नाटकीय ढग़ रम्पुरा से बरामद कर लिया।

Rudrapur Police

तीन लोगों को हुई थी जेल

पिछले साल 6 जून 2018 को ट्रांजिट कैंप निवासी वीरेन्द्र हालदार ने पुलिस को बताया कि उसकी पुत्री रेखा व 11 माह का पुत्र काला को रीता नाम की महिला ने बहसा-फुसला कर अगवा कर लिया। जिसके बाद उसने पति राजपाल से मिलकर किसी व्यक्ति को रेखा को 25 हजार रुपये में बेच दिया और 11 माह के पुत्र को अपने पास रख लिया। इसके बाद न्यायालय पर वाद दायर किया गया। जिसमें रीता पत्त्नी राज्यपाल, राजू पुत्र अज्ञात, कल्लन पुत्र रमेश को आरोपी बनाया गया।

जमानत पर छूटी तो वापस ले आयी बच्चा

इसके खरीद-फरोख्त का मामला सामने आने पर उन्हें जेल भेज दिया गया। अब विगत 26 जुलाई 2019 को रीता 13 माह बाद जमानत पर रिहा हुई। इसके बाद पुलिस ने उसे अपने संरक्षण में लेकर पूछताछ की तो वह टूट गई। उसने बताया कि बालक को सकुशल रखा है। बाद उसकी निशानदेही पर बालक को बरामद कर उसकी माता को सौंप दिया गया। इस दौरान 2016 की घटना के बाद रेखा के परिजनों ने उसकी शादी कर दी। बताया जा रहा है कि रीता ने बच्चे को मुजफ्फनगर छोड़ा था रीता की कोई संतान नहीं है। जैसे ही वह जेल से छूटी तो बच्चे को वापस लेकर रम्पुरा में रहने लगी। एसएसपी ने इसके खुलासे के लिए टीम को इनाम दिया।

(कोरोना वायरस)उत्तराखंड के पहले ट्रेनी IFS अफसर जिन्होंने मौत को मात दी, देखिये पूरी कहानी