drishti haldwani

रुद्रपुर-अंतिम सांसे गिन रही कल्याणी नदी, खुद पानी के लिए तरस रही नदी ऐसे बनी सडक़

204

रुद्रपुर-नगर के बीचोबीच रुद्रपुर को सुरक्षित रखने बाली कल्याणी नदी आज आपने अस्तित्व की आखिरी सांसे गिन रही है। स्थिति यह है कि अब कल्याणी नदी का अस्तित्व खतरे में है। इससे रुद्रपुर पर भी खतरा मंडरा रहा है। इस नदी के लिये नगर निगम को कोई भी चिंता नही है। यदि आज ही नदी में बाढ़ आ जाती है तब आधा रुद्रपुर इस नदी में शमा सकता है। यदि समय रहते ध्यान नहीं दिया गया तो आने वाला समय बहुत भंयानक होगा। भीषण गर्मी के चलते कल्याणी नदी में पानी कम हुआ है। क्षेत्र के लोगों ने नदी को पाटना भी शुरू कर दिया है। नदी को देखकर ऐसा लगता है कि यह नदी नहीं कोई सडक़ बनने वाली है।

iimt haldwani

लोगों ने पाटना शुरू किया

इन तस्वीरों को देखकर आप खुद ही अंदाजा लगा सकते हैं कि नदी का क्या हाल हो चुका है। नदी को इतना पाट दिया गया है कूड़े से अगर इसमें कोई भी जानवर या इंसान आराम से रास्ता समझकर जा सकता है। बता दें कि एक जमाना था जब इस नदी का पानी किसान अपने खेतों के लिए इस्तेमाल करते थे। साथ ही जानवर भी इस नदी का पानी पिया करते थे। गर्मियों में लोग इस नदी के पानी से नहाकर अपनी गर्मी भगाते थे। हालांकि स्वच्छ भारत की तो रुद्रपुर तो धीरे-धीरे स्वस्थ हो रहा है लेकिन रुद्रपुर बांसी कल्याणी नदी को नदी नहीं कूड़ेदान समझ रहे हैं। कई बार इसे साफ करने की चर्चाएं हुई लेकिन सिर्फ बातों तक ही सीमित रह गई।