रूद्रपुर -तराई में उतरा पहाड़, कैबिनेट मंत्री आर्य ने लिया पहाड़ी व्यजनों का स्वाद

0
175

रूद्रपुर -न्यूज टुडे नेटवर्क- मकर सक्रांति के पावन अवसर पर शैल सांस्कृृतिक समिति शैल परिषद के तत्वाधान में दो दिवसीय आयोजित उत्तरायणी महोत्सव 2019 का प्रारम्भ गांधी मैदान में हुआ। जिसमें उत्तराखण्ड की लोक सांस्कृृति पर आधारित विभिन्न कार्यक्रम आयोजन किये गये। इस अवसर पर प्रदेश के मंत्री यशपाल आर्य परिवन, समाज कल्याण एवं अल्पसंख्यक कल्याण द्वारा बतौर मुख्य अतिथि के रूप में कार्यक्रम का दीप प्रज्वलित कर शुभारम्भ किया। इसके बाद महिलाओं द्वारा मांगलिक गीतों से कार्यक्रम की शोभा बढ़ाते हुए मुख्य अतिथि का भी स्वागत किया। इस अवसर पर समिति के अध्यक्ष भरत लाल शाह, महामंत्री दिवाकर पाण्डे, कोषाध्यक्ष नरेन्द्र सिंह रावत ने संयुक्त रूप से मंत्री को स्मृृति चिन्ह व अंग वस्त्र प्रदान किया।

पहाड़ो से होती है देश की सुरक्षा-आर्य

आर्य ने कहा कि हमें अपनी संस्कृृति की जानकारी होनी चाहिये। हमारी संस्कृृति को पुन: जीवित रखने के लिये हमें धरातल पर काम करना होगा। उन्होंने कहा कि पहाड़ की संस्कृृति धीर-धीरे लुप्त होती जा रही है जिसे हमें बचाना होगा क्योंकि हमारी धरती सर्वधर्म सम्भाव हमारी पहचान है। हमेें समाजिक समरता को आगे बढ़ाना होगा। इंसान की पहचान उसके जन्म से नहीें उसके कर्म से होती है। हमें अपनी पहाड़ की संस्कृृति व पहाड़ों को बचाना होगा क्योंकि पहाड़ों द्वारा हमारे देश की सुरक्षा होती है। हमें अपनी माता-बहनों का भी सम्मान करना होगा। मंत्री द्वारा मेले में उपस्थित सभी जनमानस का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि हमें इस प्रकार के धार्मिक आयोजन करते रहना चाहिये ताकि आने वाली पीढ़ी अपनी संस्कृृति को एक अच्छी पहचान दे सकें। मंत्री द्वारा सांस्कृृतिक कार्य में प्रतिभाग करने वाले स्कूली छात्र-छात्राओं को पुरस्कृृत भी किया।

कलाकारों ने मोहा मन

आर्य ने कई संस्थाओं द्वारा आयोजित स्टालों का भी निरीक्षण किया। स्टॉल में पहाड़ी उत्पादों से निर्मित व्यजनों का भी आकर्षण रहा। मंत्री द्वारा इन व्यंजनों का भी स्वाद चखा। इस मौके पर उत्तराखण्ड के सुप्रसिद्ध कलाकारों के अलावा विभिन्न विद्यायल के बच्चों ने भी मनमोहक प्रस्तुतियां दी और अपनी प्रस्तुति पर दर्शकों को झूमने पर मजबूर किया। इस अवसर पर रूद्रपुर के महामौर रामपाल, स्थानीय विधायक राजकुमार ठुकराल व खटीमा विधायक पुष्कर सिंह धामी, मेला संयोजक गोपाल सिंह पटवाल, हरीश जल्होत्रा, धीरज पाण्डे, हेमन्त बिष्ट, सुरेश परिहार, दिनेश भट््ट, नरेन्द्र, दान सिंह भास्कर, हरीश, मनोज शर्मा, आरपी शर्मा, कमलेश, कमला, सुधा, दीपा, सुनीता, रजनी, तहसीलदार डा.अमृृता शर्मा, जिला समाज कल्याण अधिकारी नवीन भारती, जिला अल्पसंख्यक अधिकारी यशवंत सिंह सहित कईगणमान्य लोग व स्कूली छात्र-छात्राएं मौजूद थे।