drishti haldwani

रुद्रपुर-पति पर लगा जुड़वा बच्चों और पत्नी की हत्या का आरोप, गोवा में इस हाल में बच्चों समेत मिली महिला तो पुलिस के भी उड़े होश

176

रुद्रपुर-न्यूज टुडे नेटवर्क- पति पर पत्नी और जुड़वा बेटों की हत्या का आरोप लगा। पुलिस जांच में जुटी तो चौकाने वाला खुलासा सामने आया। दो बच्चों समेत महिला को पुलिस ने से प्रेमी के घर से बरामद किया। घटना को करीब एक माह से ज्यादा समय बीत चुका है। रुद्रपुर से एक महिला अपने जुड़वा बच्चों के साथ संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गई। महिला के लापता होने पर उसके पिता ने दामाद पर बेटी और बच्चों की हत्या करने की तहरीर दी थी। जिसके बाद दामाद के सिर पर तीन हत्याओं को आरोप लग गया। तीन लोगों की हत्या के केस से पुलिस के हाथ-पांव भी फूल गये। आनन-फानन में पुलिस ने इस केस की जांच शुरू कर दी।

iimt haldwani

 

पिता ने दी थी दामाद के खिलाफ तहरीर

छतरपुर निवासी पूर्व सैनिक ने 14 अप्रैल को पंतनगर थाने में पत्नी और 12 वर्षीय दो बेटों की गुमशुदगी दर्ज कराई थी। बताया कि तीनों बीती 11 अप्रैल की शाम चार बजे लापता हो गए है। जिसके बाद पुलिस जांच में जुट गई। घर से लापता होते समय महिला अपना मोबाइल फोन घर छोडक़र चली गई थी। तहरीर के बाद पुलिस ने तीनों की तलाश शुरू कर दी थी। इस बीच पुलिस ने महिला के फोन रिकार्ड खंगाले शुरू किये तो एक संदिग्ध नंबर पर मिला। इस नंबर पर कई बार बातचीत हुई पुलिस ने इस नंबर को ट्रैस किया गया। इस नंबर की लोकेशन गोवा निकली। नंबर के आधार पर पुलिस गोवा पहुंची तो वहां पुलिस को महिला और उसके दो बच्चे मिल गये। यहां महिला एक युवक के साथ रह रही थी। युवक ने अपना नाम पवन निवासी डडगांव बताया। इसके बाद पुलिस चारों को लेकर सिडकुल चौकी पहुंची।

 

प्रेमी के साथ जाने पर अड़ी फिर पिता संग गई मायके

रुद्रपुर लाने पर पुलिस ने महिला से पूछताछ की तो महिला ने बताया कि पति आये दिन उससे झगड़ा करता है। इस बीच उसकी पहचान फेसबुक पर गोवा में रहने वाले पवन से हुई। उसने पवन को सारी बातें बताई। पवन से उसकी दोस्ती हो गई। महिला पवन के साथ जाना चाहती थी। बीते 11 अप्रैल को वह बच्चों को लेकर पवन के साथ गोवा चली गई थी। पुलिस ने महिला को काफी समझाया लेकिन महिला पति के साथ जाने को तैयार नहीं हुई उसने अपने प्रेमी पवन के साथ बच्चों समेत रहने की इच्छा जताई। बाद में पुलिस ने महिला के पिता को बुलाया तो महिला ने बच्चों सहित लिखित रूप में पिता के साथ रहने की बात कही। इसके बाद महिला और बच्चों को पिता के सुपुर्द कर दिया गया। पिता बेटी और उसके दो बेटों को उसके पिता अपने साथ बनबसा ले गए।