inspace haldwani
Home उत्तराखंड कुमाऊँ रुद्रपुर-किसान संगठनों की सरकार को चेतावनी, 15 अक्टूबर से ऐसे करेगें...

रुद्रपुर-किसान संगठनों की सरकार को चेतावनी, 15 अक्टूबर से ऐसे करेगें विरोध

हल्द्वानी- ड्यूटी जा रहे पीआरडी जवान को ट्रैक्टर ने मारी टक्कर, पलभर में मिली दर्दनाक मौत

हल्द्वानी में एक ट्रैक्टर चालक ने अनियंत्रित होकर पीआरडी जवान को टक्कर मार दी, जिस कारण जवान गम्भीर रूप से घायल हो गया। मामला...

रुद्रपुर में बच्चे ने दौड़ाई अनियंत्रित कार, जानिए फिर क्या हुआ

रुद्रपुर । आदर्श कालोनी में एक नाबालिग ने पिता की कार की चाबी लेकर कार स्टार्ट कर ली, नतीजा यह हुआ कि कार एक...

भीमताल-ओखलकांडा में आदमखोर का आतंक बरकरार, अब ऐसे बनाया तीसरी महिला को अपना शिकार

भीमताल- जिले के ओखलकांडा ब्लॉक में आदमखोर तेंदुए ने एक और महिला को अपना शिकार बना लिया। जिससे लोगों में भय का माहौल बना...

क्या आप भूलने की समस्या से परेशान है तो आजमाये डॉ. एनसी पाण्डेय के ये उपाय

साहस होम्योपैथिक क्लीनिक के विशेषज्ञ डॉ. एनसी पाण्डेय होम्योपैथिक दवाओं से बीमारी दूर करने के उपाय अपने यू-ट्यूब चैनल पर देते है। आज के...

बागेश्वर-सीएम त्रिवेन्द्र ने की बागनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना, अब ऐसे लगेंगे बागेश्वर में विकास कार्यो को पंख

बागेश्वर-आज मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने विकास भवन सभागार बागेश्वर में अधिकारियों के साथ विभिन्न योजनाओं/कार्यों की समीक्षा बैठक की। इससे पहले प्रात: मुख्यमंत्री...

रुद्रपुर-आज गल्ला मंडी में जिले के तमाम किसान संगठनों के पदाधिकारी एवं क्षेत्र के किसान एकत्र हुए। जिसमें सर्वसम्मति से कुछ मुद्दों पर प्रस्ताव पारित हुए की यदि 14 अक्टूबर तक कच्चे आढ़ती की खरीद बोली के माध्यम से एवं नमी के आधार पर किसान को रेट नहीं मिला एवं सभी गल्ला मंडियों के अंदर कच्चे आढ़तियों की सूची प्रत्येक दुकान पर चस्पा नहीं हुई, सरकार द्वारा जो कच्चे आढ़ती के लिए 700 कुंतल प्रति दिन की सीमा निर्धारित हुई है उसे नहीं बढ़ाया गया तो 14 अक्टूबर को जिले की सभी मंडियों के अंदर किसान एकत्रित होकर आगे की रणनीति पर विचार करेंगे।

इसके बाद 15 अक्टूबर से धान की कटाई एवं कंबाइन पूर्णता बंद कर दी जाएगी। कच्चे आढती द्वारा पिछले 10 दिन से जो खरीद हो रही है, वह किसान की फसल की लूट हो रही है। 1300 से लेकर 1500 रुपए प्रति कुंतल खरीदा जा रहा है और शासन -प्रशासन मूकदर्शक बना हुआ है जबकि धान की नमी 17 प्रतिशत से 18 प्रतिशत, 19 प्रतिशत ही आ रही है।जिसे लेकर किसानों में भारी आक्रोश है।

किसान संगठनों ने कहा कि हम संयुक्त रूप से 14 अक्टूबर को जिले की मंडियों में एकत्रित होकर इस न्यूनतम समर्थन मूल्य मिलना चाहिए। सरकार द्वारा धान खरीद नीति में जानबूझकर नीलामी की प्रक्रिया को हटा देना, यह किसानों के ऊपर पर डकैती जैसा है इसलिए किसानों की धान की फसल की बोली मंडी के अंदर हो। किसान किसी भी कीमत पर अपनी फसल की लूटने नहीं देगा। इसके लिए आर-पार की लड़ाई लडऩी पड़ी तो वह भी लडऩे के लिए तैयार है लेकिन जिस तरह से सरकार और कच्चा आढ़ती इस लूट में शामिल हैं। इस मौके पर प्रमुख रूप से तेजिंदर सिंह विर्क, ठाकुर जगदीश सिंह, सुखा सिंह विर्क, त्रिलोचन सिंह, कामरेड करनैल सिंह, संतोख सिंह, डब्लू शाही, अमनदीप सिंह, गुरजीत सिंह आदि शामिल थे।

 

 

Related News

हल्द्वानी- ड्यूटी जा रहे पीआरडी जवान को ट्रैक्टर ने मारी टक्कर, पलभर में मिली दर्दनाक मौत

हल्द्वानी में एक ट्रैक्टर चालक ने अनियंत्रित होकर पीआरडी जवान को टक्कर मार दी, जिस कारण जवान गम्भीर रूप से घायल हो गया। मामला...

रुद्रपुर में बच्चे ने दौड़ाई अनियंत्रित कार, जानिए फिर क्या हुआ

रुद्रपुर । आदर्श कालोनी में एक नाबालिग ने पिता की कार की चाबी लेकर कार स्टार्ट कर ली, नतीजा यह हुआ कि कार एक...

भीमताल-ओखलकांडा में आदमखोर का आतंक बरकरार, अब ऐसे बनाया तीसरी महिला को अपना शिकार

भीमताल- जिले के ओखलकांडा ब्लॉक में आदमखोर तेंदुए ने एक और महिला को अपना शिकार बना लिया। जिससे लोगों में भय का माहौल बना...

क्या आप भूलने की समस्या से परेशान है तो आजमाये डॉ. एनसी पाण्डेय के ये उपाय

साहस होम्योपैथिक क्लीनिक के विशेषज्ञ डॉ. एनसी पाण्डेय होम्योपैथिक दवाओं से बीमारी दूर करने के उपाय अपने यू-ट्यूब चैनल पर देते है। आज के...

बागेश्वर-सीएम त्रिवेन्द्र ने की बागनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना, अब ऐसे लगेंगे बागेश्वर में विकास कार्यो को पंख

बागेश्वर-आज मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने विकास भवन सभागार बागेश्वर में अधिकारियों के साथ विभिन्न योजनाओं/कार्यों की समीक्षा बैठक की। इससे पहले प्रात: मुख्यमंत्री...

हल्द्वानी-दहेज में 12 लाख देने के बाद बहू को घर से निकाला, अब हुई ये बड़ी कार्यवाही

हल्द्वानी-रामपुर रोड निवासी युवती ने शादी के एक साल बाद ही पति और ससुराल पक्ष के अन्य लोगों के खिलाफ दहेज उत्पीडऩ का आरोप...