रुद्रपुर-इस कारण परिवार ने 11 दिन के मासूम को उतारा मौत के घाट, ऐसे छलका मां का दर्द

Slider

रुद्रपुर-महानगर के ट्रांजिट कैंप में एक दहेज उत्पीडऩ का मामला सामने आया। यहां ससुरालियों ने संपत्ति पर कब्जा करने के लिए मात्र11 दिन के मासूम का मार डाला। यह आरोप लगाते हुए एक महिला ने चार ससुरालियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। कोर्ट के आदेश पर उक्त चारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।

court-order

Slider

चार लोगों के खिलाफ दहेज उत्पीडऩ का मुकदमा

बताया जा रहा है कि वार्ड नंबर तीन संजय नगर खेड़ा निवासी सपना पुत्र मुलखराज ने पुलिस को सौंपी तहरीर में कहा है कि वर्ष 2016 को उसका विवाह सूरजपुर नंबर एक भैंसिया गदरपुर निवासी विकास कक्कड़ के साथ हुआ था। शादी के करीब 10 माह बाद ही उसकी सास की मौत हो गई। सास की मौत के बाद से ननद नीरू उर्फ सुहानी, मीनाक्षी बाठला और ननदोई कपिल और राहुल ने उसके घर में हस्तक्षेप करना शुरू कर दिया। उन्होंने दहेज के लिए उसके पति का उकसाना शुरू कर दिया। वह पति की संपत्ति हड़पना चाहते थे।

baby

मासूम बेटे की मौत का आरोप

इस बीच मार्च 2019 को उसने बेटे को जन्म दिया। इसके बाद से ननद और ननदोई संपत्ति छूटने के डर से उसके बेटे को मारने की फिराक में थे। महिला का आरोप है कि 12 मार्च को वह किसी काम से बाहर गई थी। जब वह घर पहुंची तो उसका बेटा उसे मरा मिला। उसने जब ससुरालियों पर बेटे की मौत का आरोप लगाया तो ससुरालियों ने उससे माफी मांगकर तब मामला रफा-दफा कर दिया। अब महिला ने का आरोप है कि 26 जून को सुहानी, मीनाक्षी, कपिल और राहुल ने उससे दहेज के रूप में पांच लाख रुपये की मांग की। विरोध करने पर उक्त लोगों ने मारपीट कर उसे घर से निकाल दिया। बाद में वह मायके चली गई। विगत तीन जुलाई को ये लोग मायके पहुंच गये वहां भी धमकी देने लगे। जिसके जिसके बाद उसने पुलिस में तहरीर दी।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें