PMS Group Venture haldwani

नई दिल्ली- मोदी बोले रियल एस्टेट देश का सबसे ज्यादा रोजगार देने वाला सेक्टर, देश की अर्थव्यवस्था के लिए महत्वपूर्ण

183

नई दिल्ली- न्यूज टुडे नेटवर्क: दिल्ली के ताल कटोरा स्टेडियम में देश भर के रियल एस्टेट डवलपर्स ने क्रेडाई यूथकॉन में शिरकत की। जहां देश भर से 2500 आय से अधिक रियल एस्टेट डवलपर्स के साथ बरेली से गए 34 लोगो के दल की मन की बात सुनने के लिए खुद पीएम मोदी पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कहा की रियल एस्टेट सेक्टर देश का सबसे ज्यादा रोजगार देने वाला सेक्टर है जिससे न केवल देश भर की स्टील सीमेंट और भवन निर्माण के उद्योग जुड़े हैं बल्कि बड़ी संख्या में लोगो को रोजगार देने का काम भी ये छेत्र करता है।क्रेडाई नेशनल के चेयरमेन गिताम्बर आनंद ने प्रधानमंत्री के बजट की तारीफ की।

Shree Guru Ratn Kendra haldwani

बजट में मिलने वाली रियायतों को पीएम मोदी ने बहुत ही रोचक ढंग से समझाया उन्होंने कहा कि इस बार का बजट रियल एस्टेट को पुनर्जीवित करने के लिए बनाया गया है जब लोगो की आय कर मुक्त होगी। केपिटल गेन और किराय से होने वाली आय अधिक करमुक्त होगी तो निवेश को प्रोत्साहन मिलेगा।

रियल स्टेट सेक्टर देश की अर्थव्यवस्था के लिए महत्वपूर्ण

दो दिवसीय इस सेमीनार का उद्घाटन केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हरदीप सिंह पुरी ने किया कार्यक्रम में प्रधानमंत्री के अलावा नीति आयोग के अध्यक्ष अमिताभ कांत, एचडीएफसी बैंक के चेयरमैन दीपक पारेख, यूपी, महाराष्ट्र, हरियाणा एवं मध्य प्रदेश के रेरा प्रमुख क्रमशः राजीव कुमार, गौतम चैटर्जी, केके खंडेलवाल एवं एंटनी डे सा ने भी रियल एस्टेट से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की। इसके बाद दुसरे दिन वित्त मंत्री पियूष गोयल ने सेमीनार का उद्घाटन किया और कहा की बैंको को डवलपर्स को सहयोग करना चाहिए। वित्त मंत्री ने इंडियन बैंक एसोशिएशन की बैठक डवलपर्स के साथ करके डवलपर्स के मध्य आ रही समस्याओ के समाधान का सुझाव दिया। जीएसटी पर बोलते हुए उन्होंने कहा की वो कोई वादा नहीं कर रहे मगर रियल एस्टेट के लिए जीएसटी में बहुत सकारात्मक बदलाव आएंगे।

इसके पश्चात उप राष्ट्र पति वैंकेया नायडू ने सेमीनार को सम्बोधित किया और कहा कि रियल एस्टेट सेक्टर देश की अर्थव्यवस्था का बहुत महत्वपूर्ण सेक्टर है जो 7.9% जीडीपी में योगदान देता है और कृषि के बाद जीडीपी में इसी सेक्टर का सबसे बड़ा योगदान है। 5 करोड़ से अधिक लोग निर्माण क्षेत्र में कार्यरत हैं। 6.7 करोड़ कुशल और अकुशल श्रमिकों को निर्माण क्षेत्र में रोजगार मिला हुआ है। यदि रियल एस्टेट सेक्टर आचार संहिता का पालन नहीं करेगा तो यह उन्नति नहीं कर सकता है और अगर यह सेक्टर उन्नति नहीं करेगा तो देश भी प्रगति नहीं कर सकता है। उन्होंने युवाओं से आह्वान करते हुए कहा कि देश में अच्छे आर्थिक संसाधन हैं जिनका राष्ट्र के विकास में उपयोग करने के लिए युवा आगे आएं। उन्होंने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि क्रेडाई ने श्रमिकों को दक्ष बनाने के लिए एक राष्ट्रव्यापी कार्यक्रम चलाया हुआ है। उन्होंने डेवलपर्स से नई कंस्ट्रक्शन प्रैक्टिसेज को अपनाकर देश की प्रगति की गति को और तीव्र करने में योगदान देने का आव्हान किया।

ये रहे मौजूद

बरेली से इस सेमीनार में क्रेडाई यू पी के प्रेजिडेंट इलेक्ट रमनदीप सिंह,सेक्रेटरी सुनील गुप्ता, कोषाध्यक्ष धर्मेंद्र गुप्ता, क्रेडाई यूथ के अध्यक्ष आशीष गुप्ता, पियूष अग्रवाल, अजय अग्रवाल, हरदीप सिंह ओबराय, अंकित जौहरी, शंकर अग्रवाल, राजेश अग्रवाल, सक्षम गोयल, श्याम सिंह राठोड, राजीव अग्रवाल, किशन अग्रवाल, अभिमन्यु गुप्ता, और रणजीत पांचाले समेत उनके परिजनों ने भी भाग लिया, रमनदीप सिंह के अनुसार सेमीनार में प्रधानमंत्री जी को सुनना एक अभूतपूर्व अनुभव रहा, उनका सकारात्मक रूख रियल एस्टेट सेक्टर को नई उचाई तक ले जायगा। बता दें कि ये पहला मौका है जब देश के प्रधानमंत्री ने किसी संस्था में शिरकत की है।