PMS Group Venture haldwani

जसपुर-दारोगा के खिलाफ धरने पर बैठे विधायक, डीजीपी, आईजी और एसएसपी तक पहुंचा मामला

जसपुर-न्यूज टुडे नेटवर्क- ट्यूशन जा रहे तीन नाबालिगों की बाइक दारोगा ने सीज कर दी इसके बाद उनके साथ मारपीट भी कर दी। जिसके बाद मामला विधायक तक पहुंचा तो दारोगा की इस रवैये से खफा विधायक कोतवाली मेें ही धरने पर बैठ गये। जिसके बाद कई रोचक तथ्य सामने आये। इस बीच विधाकय समर्थकों ने पुलिस के खिलाफ जबरदस्त नारेबाजी कर दी। कोतवाल साहब क्राइम मीटिंग में चले गये। कमान एसएसआई के हाथ थी तो उन्होंने मामले को निपटाने का बहुत प्रयास किया लेकिन विधायक मानने को तैयार नहीं हुए। अन्त में दारोगा को माफी मांगनी पड़ी जिसके बाद विधायक धरने से उठे।

दारोगा ने मांगी माफी तब शांत हुआ मामला

बताया जा रहा है कि शुक्रवार को तीन नाबालिग बाइक पर सवार होकर ट्यूशन जा रहे थे। इस बीच एसआइ सतीश कापड़ी ने तीनों को कोतवाली ले आए। इस दौरान एसआइ जावेद हसन दिन की ड्यूटी पर तैनात थे। सतीश कापड़ी के कहने पर उन्होंने तीनों की बाइक सीज कर दी। जिसके बाद आरोप है कि जावेद हसन ने नाबालिगों से मारपीट कर दी। इससे आपा खोकर परिजन विधायक आदेश चौहान के दर पहुंचे। सारी कहानी सुन विधायक आदेश चौहान समर्थकों संग कोतवाली धमक आये। और दारोगा के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने लगे। इस बीच समर्थकों ने पुलिस के खिलाफ जबरदस्त नारेबाजी की। बताया जा रहा है कि कोतवाल मीटिंग में गये थे तो एसएसआई ने मामले को निपटाने की कोशिश की लेकिन विधायक नहीं माने। विधायक ने तीनों नाबालिगों को मेडिकल के लिए भेजकर दारोगा के खिलाफ तहरीर तैयार करा दी। इस बीच विधायक ने डीजीपी, आइजी एवं एसएसपी को मामले की जानकारी देकर दारोगा के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा। जिसके बाद एसएसपी के आदेश पर करीब पांच बजे सीओ राजेश भट्ट ने विधायक से वार्ता की। इसके बाद दारोगा साहब ने माफी मांगी तो तब जाकर मामला निपटा।

कोरोना पीड़ित संदिग्ध बोला डॉक्टर साहब मेरी जान बचा लो। देखिये अस्पताल में अंदर फिर क्या हुआ। मॉक ड्रिल अस्पताल की।