रामनगर-सातवीं में पढऩे वाली छात्रा को भगा ले गया शादीशुदा पुरुष, मां बोली मेरी बच्ची को बचा लो

Slider

रामनगर- जिले में लगातार नाबलिगा के साथ अप्रिय घटनाएं सामने आ रही है। रामनगर में ए दंपति ने राज्य महिला आयोग की पूर्व उपाध्यक्ष अमिता लोहनी के कार्यालय पहुंचे दंपती ने रोते हुए पुत्री की बरामदगी की गुहार लगाई। दंपति का कहना है कि पुलिस ने उनकी नाबालिग बेटी के अपहरण को गंभीरता से नहीं लिया। वह लगातार पुलिस के चक्कर काट रहे है। राज्य महिला आयोग की पूर्व उपाध्यक्ष के हस्तक्षेप के बाद अब पुलिस ने अब मुकदमा दर्ज किया।

ramnagar
दंपती ने बताया कि उनकी तीन पुत्रियां कुछ दिन पूर्व अपनी नानी के घर धान लगाने गई थीं। शनिवार की रात तीन बजे उसकी सबसे छोटी नाबालिग पुत्री को गांव का ही एक विवाहित युवक अपने साथ भगा ले गया। वह सातवीं कक्षा की छात्रा है। उन्होंने आरोपी युवक से पूछताछ उसने पुत्री को नहीं लौटाने की बात की और उन्हें धमकी दी। बताया जा रहा है कि आरोपी के दो बच्चे है। पुत्री को भागने में आरोपी की बहन का हाथ भी है।

Slider

इस मामले में वह शिकायती पत्र लेकर मालधन पुलिस चौकी गए थे लेकिन मालधन पुलिस ने अपना पल्ला झाड़ते हुए जसपुर का मामला बताकर उन्हें वापस भेज दिया। जब जसपुर पहुंचे तो जसपुर पुलिस ने घटनास्थल रामनगर का बताकर रामनगर वापस भेज दिया। अब वह पुलिस के चक्कर काट रहे है। जिसके बाद वह अमिता लोहनी के पास गये। अमिता लोहनी ने कोतवाल रवि सैनी को फोन करके घटना की जानकारी दी। पुलिस ने कार्यवाही का भरोसा दिलाया। पीडि़त पक्ष ने आरोपी मंगत सिंह, उसके पिता गुरमीत सिंह, माता छीलो बाई और बहन छींदी कौर के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया।

 

उत्तराखंड की बड़ी खबरें