रामनगर- जब भरी दोपहरी इस गांव से अचानक उठने लगा काला धुआ, लोगों में मची चीख पुकार

Slider

रामनगर- न्यूज टुडे नेटवर्क: गर्मी बढ़ने के साथ ही आगजनी की घटनाएं भी बढ़ने लगी हैं। कही सूखे जंगलो व पहाड़ो में आग रही है तो कहीं खेतों में खड़ी फसल जलकर राख हो जा रही है। तो कहीं लोगों के आसियाने बर्बाद हो जा रहे हैं। आज रामनगर की कालू सिद्ध नयी बस्ती में अचानक आग लगने के कारण 40 से अधिक झोपड़ियां जलकर राख हो गईं। शुरुआत में लोगों ने आग पर काबू पाने की कोशिश की लेकिन लपटें इतनी विकराल थीं कि देखते ही देखते आग ने पूरी बस्ती के 40 से अधिक झोपड़ियों को अपने कब्जे में ले लिया। वहीं सूचना पर पहुंचे अग्निशमन कर्मियों ने काफी मशक्‍कत के बाद आग पर काबू पाया। आग से कोसी के मजदूरों का सबकुछ जलकर राख हो गया है।

Slider

तीन सिलेंडरों में ब्लास्ट

दोपहर के समय कालू सिद्ध नयी बस्ती में अचानक से आग लपटें उठने लगीं। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप अख्तियार कर लिया। मौके पर अफरा तरफ का माहौल हो गया। लोगों ने आग बुझाने की कोशिश शुरू की लेकिन कड़ी धूप और हवा के कारण आग फैलने लगी। किसी ने अग्निशमन विभाग को घटना की सूचना दी। वहीं मौके पर पहुंचे अग्नि शमन विभाग के कर्मियों को आग पर काबू पाने में काफी मशक्‍कत करनी पड़ी। तब तक 40 से अधिक घर जलकर राख हो चुके थे। आग लगने के बाद झो‍पडि़यों में रखे तीन सिलेंडरों में भी आग पकड़ ली। तीनों सिलेंडरों के ब्‍लास्‍ट होने से आग की लपटें और विकराल हो गईं। लोगों ने भागकर अपनी जान बचाई। वही अग्निकांड में गरीबों का सबकुछ जलकर राख हो गया है। अब उनके पास न रहने के लिए छत न ही बिछाने के लिए बिस्‍तर और खाने के लिए भोजन। उन्‍होंने प्रशासन से पुनर्वास की मांग करने के साथ ही भोजन का प्रबंध भी कराने की मांग की है।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें