हल्द्वानी-गोपुली के बाद अब इस गाने से धमाल मचायेेेंगे रमेश बाबू , जिसे सुनकर आप भी हो जायेंगे थिरकने पर मजबूर

0
1040

हल्द्वानी- न्यूज टुडे नेटवर्क- (जीवन राज)- उत्तराखंड के सुपरस्टार लोकगायक रमेश बाबू गोस्वामी अपने गीत गोपुली की सफलता के बाद दर्शकों को थिरकाने लिए फिर एक धमाकेदार कुमाऊंनी लोकगीत लेकर आये है। जिसे सुनकर आपके कदम थिरकने पर मजबूर हो जायेंगे। जल्द ही उनका यह गीत रिलीज होगा। इस गीत में आपको पुराने विलुप्त होती चीजों के नाम सुनने को मिलेंगे। इस गीत को खुद रमेश बाबू गोस्वामी ने लिखा है और इस गाने को संगीत से सजाया है चंदन ने। यह गीत रमेश बाबू गोस्वामी के चैनल गोपाल बाबू गोस्वामी (आरबीजी) से रिलीज होगा। इससे पहले उनके गोपुली गाने को दर्शकों ने खूब पसंद किया। अभी तक गोपुली गाना कुमाऊं में 44 लाख से ऊपर व्यूज लेकर सबसे टॉप पर है। यह गाना उने पिता सुर सम्राट स्व. गोपाल बाबू गोस्वामी ने गाया था। जिसे एक नये रूप में पेश कर रमेश बाबू ने दर्शकों के बीच रखा। जो फिर उत्तराखंड से देश-विदेश तक दौड़ पड़ी गोपुली।

यो रूमाली लिले ले मायादारा से होगा धमाका

न्यूज टुडे नेटवर्क से खास बातचीत में उत्तराखंड के सुपरस्टार रमेश बाबू गोस्वामी ने बताया कि इस गाने को लिखने और सजाने में उन्हें पूरे छह महीने लगे है। उन्होंने बताया कि जिस तरह लोगों ने गोपुली गाने का भरपूर मजा लिया। ठीक उसी तरह लोग अब यो रूमाली लिले ले मायादारा में झूमते नजर आयेंगे। रमेश बाबू ने बताया कि इस गीत में पहाड़ के पुराने विलुप्त होते शब्द जो कभी हमारी दिनचर्या के शब्द रहे है। उन्हें अपने शब्दों में पिरोकर दर्शकों के सामने रखा है। उन्होंने बताया कि यह गीत युवा ही नहीं बुजुर्गों को झूमने पर मजबूर कर देगा।

जिन्हें डांस नहीं आता वो भी थिरकेंगे

रमेश बाबू ने कहा कि गोपुली की अपार सफलता के बाद वह उत्तराखंड के सभी प्रेमी जनों के लिए फिर एक धमाकेदार प्रस्तुति लेकर आ रहे है। यो रुमाली लिले रे मायादारा जो उनके चैनल (आरबीजी) गोपाल बाबू गोस्वामी से लांच होगा। रमेश बाबू ने बताया कि जिन्हें डांस आता है उनके लिए ये गीत बहुत जबरदस्त होगा। वही जिन्हें डांस बिल्कुल भी नहीं आता है। उनके लिए भी यह गीत बहुत खूबसूरत व जबरदस्त डांस वाला गीत है। अगर लोग हल्का-सा हाथ उठाकर इधर-उधर घुमाएंगे तो वो भी बहुत खूबसूरत लगेगें। गोस्वामी ने बताया कि वही कई बार शादी-पार्टियों के अवसर देखता हूं कि बड़े भाई-भाभियों, चाचा-चाचियों और दोस्तों को जिन्हें डांस नहीं आता वो थोड़ा डांस करने में हिचकिचाने लगते हैं। यानी शर्म महसूस करते है कि उन्हें डांस नहीं आता, पर अब वो सभी लोग भी इसी गाने में जमकर डांस कर पायेंगे। गोस्वामी ने बताया कि इस गीत में वो शब्द रखे गये है जिससे पैर अपने आप थिरकने लगेंगे। यह गीत एक दिसम्बर को रिलीज किया जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here